राम मंदिर के लिए इस महिला ने 28 साल से नहीं खाया अन्न, 5 अगस्त को सफल होगी 'तपस्या'

Aug 02 2020 02:25 PM
राम मंदिर के लिए इस महिला ने 28 साल से नहीं खाया अन्न, 5 अगस्त को सफल होगी 'तपस्या'

इंदौर: पांच अगस्त को पीएम मोदी राम मंदिर का भूमि पूजन करने के लिए अयोध्या पहुंचेंगे। इसके साथ ही मध्यप्रदेश के जबलपुर की एक 81 वर्षीय बुजुर्ग महिला की भी दशकों की तपस्या पूरी हो जाएगी। छह दिसंबर 1992 को अयोध्या में विवादित ढांचा ध्वस्त किए जाने के बाद दंगे हुए थे, तब उन्होंने संकल्प लिया था कि जब तक राम मंदिर की नींव नहीं रखी जाती, वे अन्न ग्रहण नहीं करेंगी। वे विगत 28 सालों से फलाहार के साथ राम नाम का जाप करते हुए उपवास रख रही हैं।

इस बुजुर्ग महिला का नाम उर्मिला देवी है जो मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले के विजय नगर की रहने वाली हैं। उन्होंने मंदिर निर्माण के लिए 53 वर्ष की आयु में उपवास आरंभ किया था। पहले लोगों ने उन्हें अपना उपवास तोड़ने के लिए बहुत समझया था, किन्तु वे अपने फैसले पर अडिग रहीं। मंदिर के पक्ष में फैसला आने पर वे गदगद हो गईं थीं। उन्होंने फैसला सुनाने वाले सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों और पीएम मोदी को पत्र भेजकर बधाई दी थी।

राम लला के दर्शन करने के बाद करेंगी अन्न ग्रहण अयोध्या में पांच अगस्त को पीएम मोदी राम मंदिर का भूमि पूजन करेंगे। इस दिन उर्मिला पूरे दिन अपने घर में रहकर राम नाम का सुमिरन करेंगी। वे चाहती हैं कि अयोध्या में राम लला के दर्शन करने के पश्चात ही वे अन्न ग्रहण करें। उनके परिवार वाले उन्हें समझा रहे हैं कि कोरोना वायरस महामारी के कारण सिर्फ आमंत्रित लोग ही अयोध्या जा सकते हैं। ऐसे में उन्हें पर उपवास तोड़ लेना चाहिए, मगर वे मानने को तैयार नहीं हैं।

पेट्रोल-डीजल के दाम में नहीं हुए बदलाव, जानें क्या है आज कीमत

ब्राज़ील में कोरोना ने पकड़ी तेजी, अब तक इतनी हुई मौतें

इज़राइल के पीएम पर भड़के लोग, कर रहे विरोध प्रदर्शन