वाहन चालक के पास निकल रहे फेक लाइसेंस, जुर्माना 10 गुना बढ़ा

वाहन चालक के पास निकल रहे फेक लाइसेंस, जुर्माना 10 गुना बढ़ा

संसद में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि भारत में लगभग 30% ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी हैं. उन्होंने प्रस्तावित मोटर वाहन संशोधन विधेयक के लिए एक पिच बनाते हुए अपडेट दिया. उन्होंने ट्रैफिक नियमों के उल्लघंन पर लगने वाले जुर्माने और लाइसेंसिंग के मौजूदा सिस्टम को बेकार करार दिया है. नितिन गडकरी ने कहा कि भारत में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना सबसे आसान है और ज्यादातर मामलों में लाइसेंस धारक की तस्वीर लाइसेंस में तस्वीर से मेल नहीं खाती. हालांकि, सुस्त नियमों के चलते नकली लाइसेंस वाला कोई भी मोटर चालक ऐसी चीजों की परवाह नहीं करता है. इतना ही नहीं, लोग ट्रैफिक तोड़ने में भी नहीं कतराते क्योंकि 50 से 100 रुपये के चालान में उन्हें किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नही होती है.

भारत में Ducati Panigale V4 25 Anniversario 916 हुई लॉन्च, ये है कीमत

हाल ही सामने आए नितिन गडकरी के बयान के अनुसार देश में हर साल सड़क दुर्घनाओं में करीब 1.50 लाख लोगों की मौत होती है. उन्होंने कहा कि यह उनकी सबसे बड़ी नाकामी है कि पिछले चार सालों की कोशिश के बाद मोटर वाहन एक्ट में संशोधन को सदन में पास नहीं किया जा सका. नितिन गडकरी ने आंकड़ों का हवाला दिया और कहा कि सरकार तमाम कोशिशों के बाद देश में 3 से 4% सड़क दुर्घनाओं में कमी ला पाई है, लेकिन तमिलनाडू में 15 फीसद की कमी आई है. अब ऐसे में सरकार तमिलनाडू मॉडल को अपनाने की कोशिश कर रही है.

Tata Hexa की खरीदी में ग्राहकों ने दिखाई बेरूखी, ये है कारण

इस समय नए अधिनियम के तहत जुर्माना कम से कम 10 गुना बढ़ जाएगा.नए बिल के तहत फेक लाइसेंस के साथ गाड़ी चलाने पर मौजूदा मानदंड़ों के तहत 500 रुपये के बजाए 5,000 रुपये का जुर्माना लगेगा.खराब ड्राइविंग और मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने पर जुर्माना यातायात मौजूदा 1,000 रुपये से 5,000 रुपये तक जाएगा.शराब पीकर वाहन चलाने वालों को अब 2,000 रुपये के बजाए 10,000 रुपये तक देने होंगे.नए MV Act के तहत सार्वजनिक सड़कों पर खतरनाक ड्राइविंग के लिए जुर्माना 1,000 रुपये से 5,000 रुपये तक बढ़ जाएगा.इसके अलावा नए MV अधिनियम में नियमों का उल्लंघन करने पर जेल का भी प्रस्ताव है.

बजाज डोमिनर 400 : इस वेरियंट की डिलिवरी हुई शुरू

लाइसेंस टेस्ट में 50% से ज्यादा हुए फेल

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि भारत की राजधानी दिल्ली में ऑटोमैटिक लाइसेंस प्रणाली शुरू की गई थी. एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 50% से अधिक आवेदक ऑटोमैटिक लाइसेंस टेस्ट में विफल रहे हैं. भारतीय लाइसेंस प्रणाली दुनिया में सबसे आसान में से एक है. कई अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं में भी इस पर प्रकाश डाला गया है.

Harley की ये लेटेस्ट बाइक है बहुत हाईटेक, जानिए क्यों है सबसे अलग

Honda CB Unicorn 160 हो सकती है बंद, पूरी पढ़े रिपोर्ट

Suzuki Burgman Street का नया अवतार आया सामने, ये है संभावित लॉन्च डेट