कुंजल क्रिया करने का सही तरीका

पानी से पेट को साफ किए जाने की क्रिया को कुंजल क्रिया कहते हैं. इस क्रिया से पेट व आहार नली साफ हो जाती है. यह क्रिया पाचन तंत्र की खराबियों को दूर करने में मदद करती है. इसे किसी योग शिक्षक की देखरेख में ही करना चाहिए.

विधि : शौच के बाद, हाथ-मुँह साफ करके पहले एक लिटर पानी गर्म करके रख लें. फिर जब पानी गुनगुना हो जाए तब कगासन की स्थिति में बैठकर जितना संभव हो वह गुनगुना पानी पी लें.

पानी पीने के बाद खड़े होकर थोड़ा सामने की ओर झुकें और तर्जनी, मध्यमा और अनामिका अँगुली को मिलाकर मुँह के अंदर जीभ के पिछले हिस्से पर घुमाएँ. जब तक की उल्टी की इच्छा होकर पानी बाहर नहीं निकलने लगे तब तक घुमाएँ. जब पानी निकलने लगे तो अँगुली को बाहर निकाल लें.

जब पानी निकलना बन्द होने लगे तो पुन: अँगुली को अन्दर डालकर उल्टी करें. इस क्रिया को तब तक करें जब तक पेट से सारा पानी बाहर न निकल जाए. फिर जब पानी खट्टा या कड़वा निकलने लगे तो फिर 2 गिलास पानी पीकर पहले की तरह ही अँगुली को जीभ पर घुमाकर उल्टी करें. कुंजल करने के 2 घंटे बाद स्नान करें या कुंजल करने से पहले स्नान करें. जब एक लिटर का अभ्यास हो जाए तब पानी की मात्रा बढ़ाकर 2 लिटर पानी से इसका अभ्यास करें.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -