'देर न हो जाए कहीं...' गाने वाले कव्वाली गायक सईद साबरी का इंतकाल, बॉलीवुड में दौड़ी शोक लहर

नई दिल्ली: देश के जाने माने कव्वाली गायक सईद साबरी का इंतकाल हो गया है. उनका देहांत रविवार को हार्ट अटैक आने के चलते हुआ. बता दें कि सईद, साबरी ब्रदर्स फरीद और अमिन साबरी के पिता थे. वह 85 साल के थे. तक़रीबन दो माह पहले 11अप्रैल उनके बेटे फरीद साबरी का निधन हुआ था. उनका निधन अस्पताल में इलाज के दौरान हुआ था.

तीनों ने कव्वाली गायकों ने 'देर ना हो जाए कहीं देर ना हो जाए' और 'एक मुलाकात जरूरी है सनम' जैसे सुपरहिट गीत बॉलीवुड को दिए थे. प्राप्त जानकारी के अनुसार, सईद साबरी नहाने के लिए गए थे, उसी समय उन्हें दिल का दौरा पड़ा. उन्हें फ़ौरन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. रविवार शाम को हो घाट गेट स्थित कब्रिस्तान में अंतिम संस्कार कर दिया गया. अमिन साबरी ने मीडिया से कहा कि,"यह एक बहुत बड़ा झटका है, मेरे पिता ने जो उपलब्धियां हासिल की हैं, हम वैसा करने के बारे में सोच भी नहीं सकते. हमने आमिर खान के आवास पर परफॉर्म किया और मुंबई में कई जगहों पर फंक्शन में गए. कोरोना महामारी से पहले, हमने कई इवेंट्स में परफॉर्म किया था."

अमिन साबरी ने मीडिया से कहा कि, "सईद साबरी ने फिल्म हिना के लिए प्लेबैक सिंगर रहीं लता मंगेश्कर के साथ 'देर ना हो जाए कहीं देर ना हो जाए' गाया था. हालांकि, बाद में निर्देश को लगा कि गाने के लिए इन तीनों की आवश्यकता है." अमीन साबरी ने आगे कहा कि जब गाना रिकॉर्ड हुआ, इसने पूरी दुनिया में बड़ा प्रभाव डाला और अच्छे इवेंट में गाने की मांग होने लगी.

दिलीप कुमार के निधन की खबरों पर भड़कीं सायरा बानो, कहा- 'विश्वास न करें'

'कैंसर सर्वाइवर्स डे' पर सोनाली बेंद्रे ने शेयर की कैंसर ट्रीटमेंट की थ्रोबैक तस्वीर

मार्वल की सीरीज में क्या नजर आएंगे पाकिस्तानी अभिनेता फवाद खान?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -