'भारत नफरत की सबसे बड़ी मशीन है, मुझे यहाँ डर लग रहा है', हिन्दू देवताओं का मजाक उड़ाने वाली डायरेक्टर का बयान

हिंदू घृणा से भरी हुईं फिल्ममेकर लीना मणिमेकलई (Leena Manimekalai) ने अब एक नया ट्वीट कर दिया है जो चौकाने वाला है। जी दरअसल इस नए ट्वीट में भगवान शिव और देवी पार्वती का मजाक बनाया है। आप देख सकते हैं जो फोटो ट्वीट की गई है उसमें शिव-पार्वती बने कलाकारों को धूम्रपान करते दिखाया गया है। जी हाँ और दूसरी तरफ लीना की डॉक्यूमेंट्री ‘काली’ विवादों में है। आप सभी को बता दें कि लीना ने बीते 2 जुलाई को ‘काली’ का पोस्टर ट्विटर पर रिलीज किया था और इसमें ‘काली’ बनी एक्ट्रेस को सिगरेट पीते दिखाया गया था। इसी के साथ ही एक हाथ में त्रिशूल और दूसरे हाथ में LGBT का झंडा था। इस पोस्टर पर विवाद होने के बाद लीना ने माफी माँगने से इनकार कर दिया था।

वहीं, दूसरी तरफ इसके प्रदर्शन के लिए कनाडा की आगा खान म्यूजियम ने माफी माँगी थी। हालाँकि अब इन सभी के बीच लीना फिर से सोशल मीडिया में हिंदुओं और उनके अराध्यों को लेकर लगातार जहर उगलते दिख रहीं हैं। वहीं दूसरी तरफ वह अंतरराष्ट्रीय मीडिया में खुद को असुरक्षित बताकर भारत विरोधी प्रोपेगेंडा को भी आगे बढ़ा रही है। जी दरअसल द गार्डियन को उन्होंने बताया कि भारत नफरत की मशीन बन चुका है। केवल यही नहीं बल्कि एक रिपोर्ट में कहा गया है कि, 'दक्षिण भारत के तमिलनाडु के मदुरै में पैदा हुईं लीना मणिमेकलई का पालन-पोषण एक हिंदू के रूप में हुआ, लेकिन अब वह एक नास्तिक है।' इसके अलावा उन्होंने इस बात से इनकार किया है कि ‘काली’ हिंदू धर्म के प्रति अपमानजनक है और इसी के साथ ही अपनी सांस्कृतिक और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हवाला देते हुए सेंसरशिप पर एतराज जताया है। इसके अलावा इस रिपोर्ट में लीना के हवाले से कहा गया है, “मैं जिस राज्य से आती हूँ, वहाँ काली को एक बुतपरस्त देवी माना जाता है। वह बकरी के खून में पका हुआ मांस खाती हैं। शराब पीती हैं। बीड़ी (सिगरेट) पीती हैं और जंगली नृत्य करती हैं। यही वह काली है जिसे मैंने फिल्म के लिए अपनाया है।”

इसी के साथ लीना का दावा है कि ‘काली’ का पोस्टर ऑनलाइन शेयर करने के बाद उन्हें, उनके परिवार और सहयोगियों को 200,000 से अधिक अकाउंट्स से ऑनलाइन धमकी मिली। केवल यही नहीं बल्कि उन्होंने इसके लिए दक्षिणपंथी हिंदू समूहों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा, “मुझे अपनी संस्कृति, परंपराओं और ग्रंथों को कट्टरपंथी तत्वों से वापस लेने का पूरा अधिकार है। इन ट्रोल्स का धर्म या आस्था से कोई लेना-देना नहीं है।” इसी के साथ ही कहा है कि, 'भारत सबसे बड़े लोकतंत्र से नफरत की सबसे बड़ी मशीन बन गई है। लिहाजा मैं सुरक्षित महसूस नहीं कर रही हूँ।' वहीं लीना के ताजा ट्वीट को लेकर भी नेटिजन्स खुश नहीं है और उन्होंने नाराजगी जताई है।

'जय माँ कलकत्ते वाली, तेरा श्राप ना जाये खाली', जानिए क्यों अनुपम खेर ने कहा ऐसा?

बॉलीवुड में आने के लिए ग्लैमरस हुईं शहनाज गिल, रेड वाइन कलर के वनपीस में ढाया कहर

मशहूर एक्टर हुआ गिरफ्तार,अब बोला- 'मुझे माफ करे, गलती हो गई'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -