सूखे की मार झेल रहा झारखण्ड, गुमला में किसान ने की ख़ुदकुशी

Jul 31 2019 11:38 AM
सूखे की मार झेल रहा झारखण्ड, गुमला में किसान ने की ख़ुदकुशी

गुमला : झारखंड सूखे की चपेट में है. किसानों की हालत दिन-प्रतिदिन बदहाल होती जा रही रही है. सूबे में बारिश नहीं होने से लगातार किसान आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं. इस कारण किसानों की आत्महत्याओं का सिलसिला जारी है. ताजा मामला कृषि प्रधान जिला गुमला से सामने आया है, जहां 55 वर्षीय शिवा खड़िया ने ख़ुदकुशी कर ली. शिवा के खेत में सूखे से दरार आ गई थी. जवान बेटी के विवाह के लिए उसके पास पैसे नहीं थे. इसी से तंग आकर उसने फांसी लगाकर ख़ुदकुशी कर ली.

इससे पहले शिवा ने खेती के लिए जमीन को गिरवी रखा था. उसके बेटे ने गोवा से वापस लौटकर जमीन छुड़ाया. हाल ही में उसने अपने खेत में धान का बिचड़ा डाला था. लेकिन सूखे की वजह से उसने अपनी जीवन लीला ही समाप्त कर ली. यह मामला गुमला सदर प्रखंड के ढेढोली पोखरा टोली का है. शिवा खड़िया ने घर में रखे धान से खेत में बिचड़ा डाला. लेकिन सूखे के कारण खेत में दरार आ जाने और बेटी की शादी की चिंता में उसने मौत को गले लगा लिया. शिवा खड़िया के तीन बेटे और तीन बेटियां हैं. दो बेटियों की शादी अभी नहीं हुई है. इसकी चिंता उसे लगातार सता रही थी. मृतक के बेटे का कहना है कि घर में खाने की सामग्री नहीं रहने के कारण उन्होंने आत्महत्या कर ली.

वहीं, ग्रामीणों का कहना है कि शिवा खड़िया आर्थिक तंगी से जूझ रहा था. पहले बेटी और बेटे के शादी के वक़्त खेत को बंधक रखा था. जब बेटे और बेटी गुजरात और गोवा से वापस लौटे तो उन्होंने पूरा पैसा देकर जमीन को बंधक को छुड़ाया. लेकिन अच्छी बारिश नहीं होने के चलते उसे भुखमरी की चिंता सताने लगी. इसी चिंता में उसने ख़ुदकुशी कर ली.

उत्तर प्रदेश में 5 सालों में चार लाख युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य

आर्थिक सुस्ती के गिरफ्त में ट्रांसपोर्ट व्यवसाय

सरकार ने 5 जी स्पेक्ट्रम बैंड को दी हरी झंडी