जेट एयरवेज के पायलटों ने कंपनी बचाने के लिए पीएम मोदी से की अपील

Apr 15 2019 04:47 PM
जेट एयरवेज के पायलटों ने कंपनी बचाने के लिए पीएम मोदी से की अपील

नई दिल्ली : लगातार घाटे से जूझ रही विमानन कंपनी जेट एयरवेज के पायलटों ने कंपनी को बचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है। जेट के पायलटों ने प्रधानमंत्री से 20,000 नौकरियां बचाने में मदद करने का अनुरोध किया है। इसके साथ ही जेट के पायलटों ने विमानन कंपनी को बचाने के लिए एसबीआई से भी मदद मांगी है। उन्होंने एसबीआई से 1,500 करोड़ रुपये का फंड जारी करने की अपील की है।

झारखण्ड में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, तीन नक्सलियों को किया ढेर

इस कारण लिया था ऐसा निर्णय  

जानकारी के लिए बता दें कि जेट एयरवेज के 1100 पायलटों ने वेतन न मिलने के कारण सोमवार से विमान न उड़ाने का जो फैसला लिया था, उसे फिलहाल टाल दिया गया है। इससे पहले यूनियन नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) ने रविवार सुबह पायलटों को जनवरी से वेतन का भुगतान न होने के कारण विमान न उड़ाने की ठानी थी। गिल्ड का दावा है कि वह 1600 पायलटों में से करीब 1100 पायलट का प्रतिनिधित्व कर रही है।

250 फीट गहरी खाई में गिरी अनियंत्रित जीप, एक की मौत कई घायल

फ़िलहाल इतना दे रही है ऑफर 

सूत्रों के मुताबिक बजट एयरलाइन के लिए मशहूर स्पाइसजेस जेट पायलटों को 25-30 फीसदी कम और इंजीनियरों को 50 फीसदी तक कम वेतन में नौकरी का प्रस्ताव दे रही है। एक वरिष्ठ एयरक्राफ्ट मेंटीनेंस इंजीनियर को स्पाइसजेट ने 1.5-2 लाख रुपये प्रतिमाह सैलेरी ऑफर की, जिसे जेट चार लाख रुपये प्रतिमाह दे रहा था। माना जाता है कि जेट की औसत तनख्वाह दूसरी एयरलाइन के मुकाबले ज्यादा रहती है। उधर, स्पाइसजेट का कहना है कि वह अपने सैलरी ढांचे के हिसाब से ऑफर दे रही है।

ये है दुनिया का सबसे छोटा देश, 50 भी नहीं है इसकी आबादी

सहारनपुर में क्रेन की चपेट में आया युवक, मौत

तेज रफ़्तार ट्रक ने तीन बाइक सवार युवकों को रौंदा, मौत