आतंकी संगठन हिजबुल्लाह भड़का रहा आग, जंग में कूद सकते हैं ईरान-लेबनान ! इजराइल ने जताई चिंता

आतंकी संगठन हिजबुल्लाह भड़का रहा आग, जंग में कूद सकते हैं ईरान-लेबनान ! इजराइल ने जताई चिंता
Share:

जेरूसलम: मध्य पूर्व में तनाव बढ़ रहा है क्योंकि इजराइल ने चिंता जताई है कि आतंकी संगठन हिजबुल्लाह के हालिया हमलों से संभावित रूप से व्यापक संघर्ष हो सकता है, जो लेबनान को युद्ध क्षेत्र में खींच सकता है। इज़राइल के सैन्य प्रवक्ता, जोनाथन कॉनरिकस ने चिंता व्यक्त करते हुए चेतावनी दी है कि हिजबुल्लाह की कार्रवाइयों से बिना किसी महत्वपूर्ण लाभ के लेबनान को नुकसान पहुंचने का खतरा है।

बता दें कि, लेबनानी हिजबुल्लाह समूह हमास के साथ घनिष्ठ रूप से जुड़ा हुआ है, जिसने इज़राइल में 7 अक्टूबर के हमले के साथ हाल ही में हिंसा में वृद्धि को प्रज्वलित किया, जिसके परिणामस्वरूप जीवन की दुखद हानि हुई, इज़राइली अधिकारियों ने 1,400 से अधिक लोगों के हताहत होने की सूचना दी, मुख्य रूप से नागरिक जो गोलीबारी, अंग-भंग से पीड़ित थे। हमास द्वारा संचालित स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, जवाब में, इज़राइल ने गाजा पर लगातार हवाई हमलों की एक श्रृंखला शुरू की है, जिसमें 4,300 से अधिक फिलिस्तीनियों की मौत हो गई है, जिनमें मुख्य रूप से नागरिक शामिल हैं। इसके साथ ही, इज़राइल और हिजबुल्लाह के बीच सीमा पार टकराव फिर से शुरू हो गया है, कॉनरिकस ने हिजबुल्लाह पर खतरनाक वृद्धि का आरोप लगाया है।

उन्होंने टिप्पणी की, "हिजबुल्लाह बहुत ही खतरनाक खेल खेल रहा है। वे स्थिति को बढ़ा रहे हैं। हम हर दिन अधिक से अधिक हमले देख रहे हैं।" कॉनरिकस ने गाजा-आधारित आतंकवादियों की खातिर अपनी शेष समृद्धि और संप्रभुता को खतरे में डालने की लेबनानी राज्य की इच्छा पर भी सवाल उठाया, और लेबनानी अधिकारियों को इस महत्वपूर्ण प्रश्न पर विचार करने की आवश्यकता पर बल दिया।

हाल की गोलीबारी में पहले ही कई लोग हताहत हो चुके हैं, जिसमें चार हिजबुल्लाह लड़ाके और फिलिस्तीनी समूह इस्लामिक जिहाद के एक सदस्य की लेबनान में जान चली गई है। इसके अतिरिक्त, हिज़्बुल्लाह की टैंक-रोधी गोलाबारी के कारण तीन इज़रायली सैनिक घायल हो गए, जिनमें से एक गंभीर रूप से घायल हो गया, और दो थाई खेत कर्मचारी भी घायल हो गए। इन बढ़े हुए तनावों के बीच, इज़राइल ने दर्जनों उत्तरी समुदायों को खाली करने के आदेश जारी किए हैं। सीमावर्ती क्षेत्रों के हजारों लेबनानी निवासी भी सुरक्षा के लिए दक्षिणी शहर टायर में भाग गए हैं।

हिजबुल्लाह के उप नेता नईम कासिम ने इस संभावना से इनकार नहीं किया है कि समूह संघर्ष में अपनी भागीदारी बढ़ाएगा। उन्होंने कहा, "आइए स्पष्ट रहें, जैसे-जैसे घटनाएं सामने आती हैं, अगर कुछ ऐसा सामने आता है जिसमें हमारे लिए अधिक हस्तक्षेप की आवश्यकता होती है, तो हम ऐसा करेंगे।" विशेष रूप से, ईरान द्वारा समर्थित आतंकी संगठन हिजबुल्लाह ने 2006 में इज़राइल के साथ एक विनाशकारी युद्ध में भाग लिया, जिसके परिणामस्वरूप लेबनान में 1,200 से अधिक लोग हताहत हुए, जिनमें मुख्य रूप से नागरिक थे, और इज़राइल में 160 लोग हताहत हुए, जिनमें मुख्य रूप से सैनिक थे। हिंसा की हालिया घटनाओं ने क्षेत्र में शत्रुता फिर से भड़कने की आशंका को लेकर चिंता बढ़ा दी है।

विदेशों में भारत विरोधी आतंकियों को कौन ठोंक रहा ? अब अज्ञात हमलावरों ने लश्कर-ए-जब्बार के सरगना दाऊद मलिक को गोलियों से भूना

3500 वर्ष प्राचीन है 'यरुशलम' का इतिहास, सिकंदर से लेकर रोमन तक ने किया है यहाँ राज

मस्जिद अल अंसार में था 'आतंकियों' का अड्डा, इजराइल ने एयर स्ट्राइक में किया तबाह

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -