भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए खुशखबरी, अगले साल चीन-अमेरिका को भी पीछे छोड़ देगा भारत

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी से भारत की अर्थव्यवस्था उबरती नज़र आ रही है। टीकाकरण अभियान का भी सकारात्मक असर हो रहा है। इसे देखते हुए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने अनुमान जताया है कि भारत की GDP मौजूदा वित्त वर्ष में 9.5 और अगले वित्त वर्ष में 8.5 फीसदी की गति के साथ आगे बढ़ेगी, जो कि विश्व में सबसे तेज रहेगी।

 

वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक रिपोर्ट जारी करते हुए IMF ने कहा है कि इस साल पूरी दुनिया की इकॉनमी का ग्रोथ 5.9 और अगले साल यह 4.9 प्रतिशत रहेगा। वहीं, इसके अलग भारत की इकॉनमी कहीं अधिक तेजी के साथ बढ़ेगी। जुलाई में कोरोना का हवाला देते हुए वैश्विक एजेंसी ने भारत की GDP ग्रोथ का अनुमान पिछले 12.5 फीसद ​से घटाकर 9.5 फीसद कर दिया था। इसको लेकर IMF की चीफ इकोनॉमिस्ट गीता गोपीनाथ ने भारत की कोशिशों की सराहना की है। उन्होंने अर्थव्यवस्था में आए उछाल को कोरोना टीकाकरण से जोड़ते हुए कहा है कि भारत में कोरोना टीकाकरण काफी तेजी से हुआ है, जिससे अर्थव्यवस्था को रिकवर करने में सहायता मिली है।

IMF के अनुसार, इस साल अमेरिकी अर्थव्यवस्था 6 फीसदी की रफ़्तार से आगे बढ़ रही है, जो कि अगले 5.2 फीसदी रह सकती है। मौजूदा वित्त वर्ष में 8 फीसदी की रफ़्तार से आगे बढ़ रही चीनी इकॉनमी 2022 में घटकर 5.6 फीसद पर रह सकती है।

एयर इंडिया के बाद बिक्री के लिए अब इस सरकारी कंपनी का नंबर

भारी उछाल के साथ खुला बाजार, जानिए क्या है निफ़्टी और सेंसेक्स का हाल

आज घटे या बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आज का भाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -