अब ट्रेन में मिलेगा प्लेन जैसा टॉयलेट

Sep 18 2015 07:10 PM
अब ट्रेन में मिलेगा प्लेन जैसा टॉयलेट

नई दिल्ली : वैसे तो भारत का गरीब तबका अब भी प्लेन में जाने से वंचित रहा है, और किसी ने अगर प्लेन में उड़ने का सपना भी देखा हो तो उसका सपना भी सपना ही रह जाता है, लेकिन महत्वूर्ण सूत्रों से खबर मिली है कि भारतीय रेलवे भारत में पहली बार ट्रेन में प्‍लेन जैसा टॉयलेट, यानी ‘हाइब्रिड वैक्यूम सेल’ लगाया है, भारतीय रेलवे द्वारा शुक्रवार से इसे डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस के 153002/C FAC कोच में ट्रायल के तौर पर लगाया गया है। रेलवे के इस आधुनिक प्‍लेन जैसे टॉयलेट की डिजाइन को भारतीय रेलवे के डेवलपमेंट सेल ने तैयार किया है. बता दे की आमतौर पर भारतीय ट्रेनों में जो टॉयलेट्स होते हैं उनमें एक बार फ्लश करने पर 10 से 15 लीटर पानी खपत होता है। लेकिन हाइब्रिड वैक्यूम टॉयलेट्स में एक बार में केवल आधा लीटर पानी खर्च होगा। 

कहने का मतलब है कि इस तकनीक से तकरीबन 20 गुना पानी की बचत होगी। इससे बहुत ही महत्वपूर्ण फायदा यह होगा की इससे ट्रैक पर गंदगी भी नही फैलेगी क्योँकि इस ट्रेन के कोच के निचले हिस्से में एक टैंक लगा होता है। इसमें खास तरह के बैक्टीरिया होते हैं। ये बैक्‍टीरिया मल को रिलीज करने से पहले पानी और गैस में तब्दील कर देते हैं।