आखिर क्यों मनाया जाता है सशस्त्र सेना झंडा दिवस?

नई दिल्ली: देशभर में आज यानी 7 दिसंबर को भारतीय सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाया जा रहा है। यह दिवस थलसेना, नौसेना एवं वायुसेना के जवानों के कल्याण हेतु मनाया जाता है। ये दिवस वर्ष 1949 से मनाया जा रहा है। यह दिवस देश के लिए शहीद हुए जवानों के परिवार के लोगों के कल्याण के लिए मनाया जाता है। इसके साथ ही ये देशवासियों को आर्म्ड फोर्स फ्लैग डे फंड में सहायता करने का अवसर भी देता है।

भारत भारतीय सशस्त्र सेना झंडा दिवस के 1949 से हर वर्ष मना रहा है। 28 अगस्त, 1949 को रक्षा मंत्री ने एक कमेटी का गठन किया था। इसी कमेटी के फैसले के पश्चात् से झंडा दिवस हर वर्ष 7 दिसंबर को मनाया जाता है। इस दिन नागरिकों के बीच छोटे झंडे को बांट कर लोगों से डोनेशन लिया जाता है। 

वही इस फंड को आर्म्ड फोर्स फ्लैग डे फंड में दिया जाता है जो कि एक्स सर्विसमैन के वेलफेयर के लिए इस्तेमाल किया जाता है। भारतीय सशस्त्र सेना झंडा दिवस के दिन भारतीय अपने सैनिकों के प्रति आभार व्यक्त करते हैं। भारतीय सशस्त्र सेना झंडा दिवस के दिन भारत की तीनों सेनाएं इंडियन आर्मी, भारतीय वायु सेना, इंडियन नेवी कई कार्यक्रमों का भी आयोजन करती है। इसके साथ ही झंडे का वितरण भी किया जाता है जिसके बदले में लोग डोनेशन देते हैं।

डॉ. अंबेडकर को पुण्यतिथि पर PM नरेंद्र मोदी ने दी श्रद्धांजलि

पेट्रोल छिड़क कर दामाद को लगाई दी आग, जानिए वजह

मथुरा: शाही मस्जिद में हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान, अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रवक्ता गिरफ्तार

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -