रूस के साथ भारत ने किया पनडुब्बी का अहम करार

नई दिल्ली : लगता है भारत को रूस का साथ अच्छा मिल रहा है। हालांकि प्रारंभ से ही रूस भारत के लिए हथियारों और पनडुब्बियों का एक बड़ा निर्यातक रहा है। अब भारत और रूस के बीच एक और सैन्य करार हुआ है। जिसमें रूस द्वारा भारतीय सेना के लिए अकुला-2 क्लास की परमाणु शक्ति युक्त पनडुब्बी का समझौता कर लिया है। हालांकि यह समझौता ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भारत और रूस के बीच हुई चर्चा का हिस्सा नहीं है।

मगर इस पनडुब्बी के भारत को मिल जाने के बाद भारत की नौसेना शक्ति और बढ़ जाएगी। डील को लेकर जानकारी मिली है कि भारत को जो परमाणु शक्ति युक्त पनडुब्बी मिलने वाली है वह मल्टी परपस प्रोजेक्ट 971 है। जिसकी लीज़ देने के लिए रूसी नौसेना ने भारत के साथ गोवा में समझौता किया है।

इस दौरान वर्ष 2011 से भारत रूस की परमाणु शक्ति से संपन्न अकुला - 2 पनडुब्बी का उपयोग हो रहा है। करीब 10 वर्ष की लीज़ पर पनडुब्बी का कार्यालय समाप्ति की ओर पहुंच गया है। भारत को अब दूसरी पनडुब्बी की जरूरत थी ऐसे में यह समझौता बेहद अहम माना जा रहा है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -