ब्रुनेई में क्रिसमस मनाया तो 5 साल के लिए जाएंगे जेल

नई दिल्ली। दुनिया भर में क्रिसमस में धूम मचाने के लिए जोर शोर से तैयारियां की जा रही है। लोग दिसंबर की शुरुआत से ही जश्न में सराबोर है। लेकिन इस खुशी के मोके पर ब्रुनेई के सुल्तान ने ग्रहण लगा दिया है। सुल्तान ने यह ऐलान किया कि यदि देश में कोई भी क्रिसमस मनाएगा तो उसे 5 साल की जेल की सजा सुनाई जाएगी। ब्रुनेई बोर्नियो द्वीप पर स्थित है, जहां के सुल्तान का कहना है कि कोई भी क्रिसमस के मौके पर बधाई देते पकड़ा गया या किसी ने भी सेंटा की टोपी पहनी तो उसे जेल की सलाखों में भेज दिया जाएगा।

हांला कि गैर मुस्लिम समुदाय के लोगो को क्रिसमस मनाने की अनुमति है, लेकिन उन्हें शख्त हिदायत दी गई है कि वो अपने ही समुदाय तक सीमित रहे और इससे पहले प्रशासन को सूचित करे। इस मुस्लिम बहुल आबादी वाले देश की कुल जनसंख्या 4,20,000 है, जिसमें से 65 प्रतिशत मुस्लिम है। यह देश पेट्रोलियम से संपन्न है। इस संबंध में धार्मिक मामलों के मंत्री का कहना है कि इस नियंत्रण का उद्देश्य किसी तरह के हंगामे से बचना है।

क्रिसमस के जश्न से हमारी इस्लामिक आस्था प्रभावित होती है। इससे पहले माह के शुरुआत में ही एक इमाम के ग्रुप ने चेतावनी दी थी कि ऐसे किसी भी उत्सव को नही मनाना है, जो गैर इस्लामिक है। इमामों ने कहा था कि क्रिसमस के जश्न के दौरान मुस्लिम भी ईसाइयों की तरह व्यवहार करते हैं।

वे क्रॉस पहनते हैं, कैंडल जलाते हैं, क्रिसमस ट्री बनाते हैं, उनके धार्मिक गीत गाते हैं और क्रिसमस की बधाई देकर उनके धर्म की तारीफ भी करते हैं। ये सारी गतिविधियां इस्लाम के खिलाफ हैं। सुल्तान के इस फैसले का सोशल मीडिया पर पुरजोर विरोध हो रहा है। लोग इसे बेहद ओछी हरकत बता रहे है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -