1,000 से ज्यादा लोगों की नौकरी पर मंडरा रहा है खतरा, Oyo ने किया भारत में कर्मचारियों की छंटनी की तैयारी

1,000 से ज्यादा लोगों की नौकरी पर मंडरा रहा है खतरा, Oyo ने किया भारत में कर्मचारियों की छंटनी की तैयारी

 रितेश अग्रवाल की अगुवाई वाली होटल कंपनी ओयो (Oyo) बहुत जल्द भारत में अपने कर्मचारियों की छंटनी करने जा रही है। इसके अलावा ओयो अपने 1,000 से ज्यादा कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की तैयारी में है। कंपनी ने भारत में अपने कारोबार को पुनर्गठित करने की प्रक्रिया के तहत यह निर्णय लिया है।इसके साथ ही  भारत और दक्षिण एशिया में कंपनी द्वारा अपने कर्मचारियों को एक मेल भेजा गया है। इस मेल में ओयो के फाउंडर और ग्रुप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रितेश अग्रवाल ने कहा कि कुछ सहयोगियों को कंपनी से बाहर एक नया करियर तलाश करने के लिए कहना उनके लिए ‘आसान फैसला’ नहीं है।

फिलहाल, अग्रवाल ने कर्मचारियों को भेजे इस मेल में यह नहीं बताया कि कितने लोगों की छंटनी की जा रही है, परन्तु सूत्रों के मुताबिक , कंपनी एक हजार से ज्यादा कर्मचारियों की छंटनी करने जा रही है। इस छंटनी के पीछे वजह कंपनी की पुनर्गठन की प्रक्रिया बतायी जा रही है, जिसमें जरूरत के हिसाब से कर्मचारियों को रखने की कोशिश की जा रही है।ओयो के फाउंडर ने कहा कि यह वर्ष 2020 के लिए नए रणनीतिक उद्देश्य का हिस्सा है। इसके अंतर्गत भिन्न-भिन्न इकाइयों और परिचालन में टीमों को पुनर्गठित किया जाएगा। 

इसके साथ ही अग्रवाल ने बताया कि कंपनी से जाने वाले कर्मचारियों को मदद का आश्वासन भी दिया गया है। ऐसा बताया जा रहा है कि ओयो देश का दूसरा सबसे बड़ा यूनिकॉर्न है। इसके अलावा पहले स्थान पर पेटीएम का नाम आता है। ओयो के वैल्यूएशन की बात की जाए , तो यह लगभग 10 अरब डॉलर है। कंपनी की स्थापना साल 2013 में हुई थी। इसके अलावा ओयो के सेल्फ ऑपरेटेड कारोबार में Oyo होम्स, Oyo फ्लैगशिप, सिल्वरकी, Oyo टाउनहाउस और क्लेक्शन ओ शामिल हैं।

2022 से ट्रैन में देख सकेंगे ऑन डिमांड फिल्म और वीडियो, जानिये पूरा मामला

आनंद महिंद्रा ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन से ब्लॉकबस्टर बजट की जताई उम्मीद

'जय मम्मी दी' का नया धमाकेदार पोस्टर हुआ आउट, जल्द रिलीज होगी फिल्म