निर्यातकों को समर्थन देने के लिए हरियाणा निर्यात संवर्धन ब्यूरो करेगा स्थापित

गुरुग्राम: निर्यात को बढ़ावा देने के लिए, हरियाणा में एक निर्यात संवर्धन ब्यूरो की स्थापना की जाएगी, जो निर्यातकों को संस्थागत सहायता प्रदान करेगा। यह घोषणा उद्योग एवं वाणिज्य विभाग, हरियाणा के महानिदेशक डॉ. साकेत कुमार ने मंगलवार, 21 सितंबर को गुरुग्राम के अपैरल हाउस सेक्टर-44 में आयोजित दो दिवसीय 'वनज्य उत्सव' के उद्घाटन के अवसर पर की। उन्होंने कहा कि हम हरियाणा के उद्यमियों और निर्यातकों को न केवल प्रोत्साहन दे रहे हैं बल्कि उन्हें कारोबारी माहौल, जुड़ाव और अन्य सरकारी सुविधाएं भी मुहैया करा रहे हैं।

उन्होंने हरियाणा में उद्यमियों और निर्यातकों को दी जा रही सुविधाओं और प्रोत्साहनों की जानकारी देते हुए कहा कि वर्ष 2020-21 में 1,74,572 करोड़ रुपये के निर्यात मूल्य के साथ हरियाणा आज सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है। यह राज्य स्तरीय कार्यक्रम उद्योग और वाणिज्य विभाग, हरियाणा और केंद्रीय कपड़ा मंत्रालय के तहत काम कर रहे परिधान निर्यात संवर्धन परिषद (एईपीसी) द्वारा 'आजादी का अमृत महोत्सव' के समारोह के हिस्से के रूप में आयोजित किया जा रहा है।

उन्होंने कहा "निर्यात की सुविधा के लिए राज्य के हर जिले में जिला स्तरीय निर्यात संवर्धन समिति (डीएलईपीसी) को कार्यात्मक बनाया गया है। इसी तरह, रसद, कृषि निर्यात और व्यापार से संबंधित सभी मुद्दों की समीक्षा के लिए एक राज्य स्तरीय व्यापार संवर्धन समिति (एसएलटीपीसी) का गठन किया गया है। हरियाणा में 35 ब्लॉक हैं, जहां औद्योगिक या निर्यात इकाई स्थापित करने के लिए किसी सीएलयू की आवश्यकता नहीं है।

दिल्ली से अमेरिका के लिए रवाना हुए प्रधानमंत्री मोदी

जानें कौन हैं एयर मार्शल वीआर चौधरी? जो बनने वाले हैं इंडियन एयरफोर्स के नए चीफ

कर्नाटक सरकार ने दी सिनेमाघरों और मल्टीप्लेक्स को फिर से खोलने की अनुमति

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -