पढ़ाई के लिए परिवार ने बेचीं जमीन, घर से भागकर अभिनेता बने थे कटप्पा

बाहुबली के 'कटप्पा' यानी सत्यराज का आज जन्मदिन है। सत्यराज आज अपना 68वां जन्मदिन मना रहे हैं। सत्यराज ने अपने करियर में कई फिल्मों में काम किया है जो धमाकेदार रहीं हैं। सत्यराज का जन्म 3 अक्टूबर 1954 को सुब्बैया में हुआ था। जी हाँ और उनका नाम रंगराज रखा गया था। वहीं उनके पिता एक डॉक्टर थे और मां घर संभालती थीं। इसी के साथ घर में उनकी दो छोटी बहनें कल्पना और रूप थीं। सत्यराज का सपना हमेशा से अभिनेता बनने का ही था, लेकिन उनकी मां इसके खिलाफ थीं और उन्हें सिनेमा में आने से मना किया था। हालांकि साल 1976 में, उन्होंने अपनी मां के खिलाफ जाकर चेन्नई के ‘कोडंबक्कम तमिल फिल्म इंडस्ट्री’ में आने के लिए अपना घर कोयंबटूर छोड़ दिया। सत्यराज कभी लीड अभिनता नहीं (Sathyaraj Life) बनना चाहते थे, बल्कि सिर्फ फिल्मों में काम करने से संतुष्ट थे।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने बताया चुनाव लड़ने का ये कारण

हालाँकि उन्होंने अपने अभिनय पर ध्यान दिया और सत्यराज की कड़ी मेहनत और भाग्य ने उन्हें एक अलग पहचान दिलाई। जी हाँ, उसके बाद उन्होंने तमिल फिल्मों (Sathyaraj Films) में एक खलनायक की भूमिका निभाते हुए अपनी पहचान बनाई और धीरे-धीरे थोड़े बड़े रोल्स मिले और वो साउथ सिनेमा में छाने लगे। करीब 200 से अधिक फिल्मों में काम करने के बावजूद, उनकी एनर्जी 20 साल के यंग ऐक्टर्स को टक्कर दे सकती है। वहीं एक इंटरव्यू में सत्यराज ने खुलासा किया कि कैसे वह अपने सपनों का पीछा करने के लिए अपने घर से भाग गए। उन्होंने बताया कि उन्होंने बॉटनी में बी.एससी किया और उसके बाद भी उन्हें कोई नौकरी नहीं मिली। वो एक किसान के परिवार से हैं और उनकी पढ़ाई पूरी करने के बाद, उनके परिवार को किसी समस्या के कारण जमीन बेचनी पड़ी। वो उस समय पूरी तरह से खाली थे और उन्हें नहीं पता था कि आगे क्या करना है। किसी भी दूसरे बच्चे की तरह उन्हें भी सिनेमा से प्यार था इसलिए वे अपने घर से चेन्नई चले गए ताकि सिनेमा में कुछ भी कर पाएं।

तलवार लेकर बैंक में घुसे 6 बदमाश, सामने आया हैरान कर देने वाला VIDEO

उनका ध्यान अभिनय पर नहीं था, लेकिन उन्हें अभिनय पसंद था। वो अपने समय के कुछ अभिनेता की मिमिक्री किया करते थे, जैसे महान एमजीआर और शिवाजी गणेशन। जी हाँ और इस तरह वो फिल्मों में आए और उन्हें कई छोटे रोल्स ऑफर हुए। अब आज वह सुपरस्टार हैं।

उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका, 3-4 हजार शिवसैनिकों ने छोड़ा ठाकरे गुट

अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने स्वदेशी अपनाने का दिया संदेश, खादी विक्रय केंद्र का किया उद्घाटन

फैशन वीक में छाई 'कोमोलिका' और TV की नागिन

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -