अनंतनाग में CRPF कैंप पर हमला, सेना की वर्दी में घूमते दिखे दो संदिग्ध

Jan 07 2016 10:20 AM
अनंतनाग में CRPF कैंप पर हमला, सेना की वर्दी में घूमते दिखे दो संदिग्ध

अनंतनाग ​: पठानकोट आतंकी हमले में आतंकियों के मारे जाने के बाद भी खतरा पूरी तरह नही टला है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के मोमिनाबाद में बुधवार की शाम लश्कर-ए-तैयबा के 4 आतंकी घुस आए और ये सभी हमले की फिराक में है। कहा जा रहा है कि आतंकियों ने सीआरपीएफ के कैंप के पास हैंड ग्रेनेड भी फेंका, लेकिन निशाना चूक गया और ग्रेनेड बाहर ही गिर गया। किसी को भी इस हमले से कोई नुकसान नही हुआ।

हांलाकि कहा जा रहा है कि इस हमले में सेना के तीन जवान घायल हो गए। आईबी की मानें तो घाटी में मौजूद आतंकियों को उनके आकाओं से निर्देश मिले है कि हमले तेज किए जाए। पंजाब के पठानकोट एयरबेस के पास से सुरक्षा बलों ने बुधवार की शाम को एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया। जिसके पास एक बैद था। उसकी गतिविधियों पर संदेह होने के कारण उसे हिरासत में लिया गया।

गुरदासपुर में गामीणों ने दो संदिग्धों को देखा है। ये दोनों सेना की वर्दी में है। जानकारी मिलते ही पुलिस ने इलाके में छानबीन शुरु कर दी है। सर्च ऑपरेशन के लिए सेना की भी मदद ली जा रही है। पठानकोट हमले के बाद सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या अब भी भारत-पाक के बीच वार्ता होगी। कहा जा रहा है कि इस हमले का मास्टरमाइंड जैश-ए-मोहम्मद का मसूद अजहर है।

जिसके हैंडलर पाक से आतंकियों को निर्देश दे रहे थे। कहा तो यह भी जा रहा है कि इन आतंकियों को पाकिस्तान के एयरबेस में ट्रेनिंग दी गई थी। इनके पास से बरामद हथियार भी एयरबेस को ध्यान में रखकर बनाए गए थे। एनआईए ने पठानकोट हमले की जांच शुरु कर दी है। जिसमें सबसे पहले संदिग्ध, आतंकियों द्वारा किडनैप किए गए एसपी सलविंदर सिंह है।