सरकार ने आंध्र प्रदेश के पर्यटन की क्षमता पर लगाया बड़ा दांव

Jul 22 2021 03:38 PM
सरकार ने आंध्र प्रदेश के पर्यटन की क्षमता पर लगाया बड़ा दांव

अमरावती: मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी द्वारा हाल ही में राज्य में पर्यटन के विकास पर जोर देने के साथ ही पर्यटन विभाग चुनौतियों से निपटने के लिए कमर कस रहा है। न केवल राजस्व को बढ़ाने में बल्कि स्थानीय लोगों को रोजगार और आय के स्रोत प्रदान करने में भी पर्यटन की क्षमता को ध्यान में रखते हुए पर्यटन के समग्र विकास को ध्यान में रखा जा रहा है। पर्यटन मंत्री एम श्रीनिवास राव के शब्दों में, यात्रा के प्रति उत्साही लोगों को जल्द ही विशेष पर्यटन पैकेज की पेशकश की जाएगी। रायलसीमा, उत्तराखंड, विजयवाड़ा और गोदावरी जिलों को इन पैकेजों के तैयार होने पर लाभ होगा।

रायलसीमा में तालाकोना, मदनपल्ली के पास हॉर्सले हिल्स, गोदावरी जिलों में और उसके आसपास अन्नावरम, डिंडी और पडेरू क्षेत्रों और अराकू, सिम्हाचलम, अरासविली और श्रीकुरम क्षेत्रों की संभावनाओं का भी अधिक प्रचार और बेहतर सुविधाओं के साथ दोहन किया जाना है। जहां सरकार ने ग्रामीण पर्यटन के लिए प्रोत्साहन के रूप में 4 करोड़ रुपये अलग रखे हैं, वहीं पोलावरम परियोजना स्थल के पास पर्यटन परिसर की स्थापना के लिए भूमि दी गई है। पर्यटन मंत्री, जो खेल के प्रभारी भी हैं, का यह भी कहना है कि राज्य में 15 केंद्रों में खेल केंद्र बनाए जाएंगे और विशाखापत्तनम, कडप्पा और पूर्वी गोदावरी जिले में जल्द ही विश्व स्तरीय खेल सुविधाएं होंगी। 

मंत्री के अनुसार, विशाखापत्तनम को आंध्र प्रदेश की प्रशासनिक राजधानी बनाने की दिशा में आगे बढ़ते हुए राज्य सरकार आकर्षण को सख्ती से बढ़ावा देना चाहती है। हाल ही में, सरकार को राज्य में पर्यटन ऑपरेटरों से एक रिपोर्ट भी मिली है जिसमें क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए कई उपायों का सुझाव दिया गया है। आकर्षक समुद्र तटों का विकास, ज्यादातर विशाखापत्तनम के पास, उनके द्वारा सरकार को दिए गए सुझावों में से एक है।

ओलंपिक बेसबॉल स्टेडियम में घुसा भालू, मचा हड़कंप

सरकार ने बाढ़ पीड़ितों के लिए किया वित्तीय सहायता का ऐलान

केरल के दिग्गज अभिनेता केटीएस पद्मनायिल का निधन, सीएम विजयन ने जताया शोक