पुलिसकर्मियों ने जर्मन महिला के साथ की शर्मनाक हरकत

भोपाल: हम हमेशा से ही सुनते आ रहे है की पुलिस हमेशा लोगो की सहायता करती है तथा वे जनता की रक्षक होती है भक्षक नही, लेकिन यह घटना आपको पुलिस के लिए सोचने पर मजबूर कर देगी, मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में जर्मन महिला से दो पुलिसकर्मियों ने बदसलूकी की व उन्हें देर रात तीन बजे तक चौकी में बेवजह बैठाया गया. यह जर्मन महिला राजधानी में पिछले डेढ़ साल से रह रही थी व पुलिस की इस घटना के बाद अब वे भारत छोड़ने का विचार कर रही है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक यह घटना रविवार रात करीब 12:30 बजे की है. यह जर्मन महिला जिसका नाम किम है वह अपने मंगेतर के साथ इंटरनेट पैक रिचार्ज कराने के लिए नादरा बस स्टैंड गई थी। की तभी वहां पर एक सब इंस्पेक्टर और कांस्टेबल ने उन दोनों को चौकी पर पूछताछ के लिए बैठा दिया व करीब तीन घंटो तक उनके साथ अपशब्दों का इस्तमाल किया, व उसके मंगेतर से उन्होंने कहा की 'हमारे लिए भी एक ऐसी ही दोस्त का इंतजाम कर दो’ व डरी-सहमी जर्मन महिला घर पहुंची और रात भर सो नहीं सकी, तथा सुबह होते ही उसने इस बात की शिकायत सीनियर अफसरों को की व इसकी शिकायत जर्मन दूतावास में भी की. पुलिस का मानना है की इसमें सब इंस्पेक्टर भी शामिल था.

पीड़िता जर्मन महिला किम ने कहा की वह अपनी बहन सिलवाना के साथ भारत आई थी व यहां पर हम दोनों बहने नित्य सेवा सोसायटी में रहकर अनाथ बच्चो को भोजन बनाने का कार्य करती थी व इसी के तहत सोसायटी से अलग होकर एयरपोर्ट रोड के पास एक मकान में रह रहे थे. 

किम ने कहा की हम दोनों बहनो की दो लड़कों से कुछ दिन पहले ही सगाई हुई थी. व जब में अपने मंगेतर सिद्धेश दुबे के साथ बस स्टैंड पहुंची तो वहां मौजूद सब इंस्पेक्टर एके त्रिपाठी और एक कांस्टेबल ने हम दोनों को चौकी में बैठा लिया व अपशब्दों का इस्तेमाल किया किम ने कहा की में हिंदी अच्छे से समझती हु व उस वक्त इन पुलिसवालों की बात सुनकर मेरा सर शर्म से झुक गया था.

उस वक्त पुलिस ने एक घंटे की पूछताछ के बाद हमारे आईडी प्रूफ रखवा लिए. व मेरे मंगेतर को पुनः बुलाकर बहन सिलवाना का भी आईडी प्रूफ जब्त कर लिया. उधर इस घटना के बाद हनुमानगंज थाना इंचार्ज बृजेंद्र ने कहा कि हमने जर्मन महिला से माफी मांग ली है. व इस मामले पर पुलिस सुप्रिटेंडेंट अंशुमान सिंह ने दोहराया की पुलिसवालों की यह घटना काफी निंदनीय है व ऐसी घटना पुनः न हो इसके लिए हम इसमें जो भी पुलिसकर्मी शामिल था उसके विरुद्ध कार्यवाही करेंगे.  

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -