अब सरकार के लिए कोयला मंगाएंगे गौतम अडानी, मिल सकता है बड़ा कॉन्ट्रैक्ट

नई दिल्ली: कोल इंडिया लिमिटेड (CIL) के पहले कोयला इम्पोर्ट का टेंडर गौतम अडानी की फ्लैगशिप कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज को मिलना लगभग तय माना जा रहा है। दरअसल, कोल इंडिया के लिए कोयला इम्पोर्ट करने के लिए अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने सबसे कम दर पर बोली लगाई है। बता दें कि यह टेंडर कोल इंडिया ने पावर जेनरेशन कंपनियों की ओर से जारी किया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अडानी एंटरप्राइजेज ने फ्रेट-ऑन-रोड (FOR) आधार पर 2.416 मिलियन टन कोयले की आपूर्ति के लिए 4,033 करोड़ रुपये की बोली लगाई है। इसके अलावा, मोहित मिनरल्स ने 4,182 करोड़ रुपये की बोली लगाई है। वहीं, चेट्टीनाड लॉजिस्टिक्स ने 4,222 करोड़ रुपये की बोली लगाई। शुक्रवार को इन सभी बोलियों को खोला गया। बता दें कि देश में कोयले की किल्लत को दूर करने के लिए विदेश से कोयला इम्पोर्ट कर 7 पब्लिक सेक्टर की थर्मल पावर कंपनियों और 19 निजी पावर प्लांट को मुहैया कराने की योजना है। 

इसी के चलते आज सोमवार को अडानी एंटरप्राइसेज के शेयरों में 2 फीसद तक की तेजी देखी गई है। कंपनी के शेयर 2,260.60 रुपये पर कारोबार कर रहे हैं। अडानी एंटरप्राइजेज को जनवरी और जून के बीच नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन यानी NTPC से कोयला इम्पोर्ट के कई कॉन्ट्रैक्ट दिए गए थे। अडानी ग्रुप ने गत वर्ष दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में अपनी कारमाइकल खदानों से कोयले की पहली खेप भारत पहुंचाई थी। उद्योग सूत्रों के अनुसार, अडानी ग्रुप मंगलवार को खुलने वाले 6 मीट्रिक टन कोयला इम्पोर्ट करने के टेंडर के लिए भी बोली लगा सकता है।  

अचानक छुट्टी पर चले गए Indigo के ज्यादातर कर्मचारी, जानिए क्यों हुआ ऐसा ?

सुधीर चौधरी ने Zee News से क्यों दे दिया इस्तीफा ? मनाने की सभी कोशिशें नाकाम

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में यह प्रदेश रहा पहले स्थान पर

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -