दो सगी बहनों से रेप कर भी नहीं भरा दरिंदो का दिल मामी को भी बनाया हवस का शिकार

Oct 11 2019 01:20 PM
दो सगी बहनों से रेप कर भी नहीं भरा दरिंदो का दिल मामी को भी बनाया हवस का शिकार

आजकल आने वाले अपराध के किस्से सभी के लिए सनसनी बने हुए हैं. ऐसे में जो मामला सामने आया है वह सुपौल के हुसैनाबाद का है जहाँ बीते मंगलवार की रात चिलोनी नदी के पास दो सगी बहनों और उनकी मामी से गैंगरेप के बाद बड़ी बहन को गोली मारी गई थी. जी हाँ, वहीं उसके बाद घायल को वहां से पटना में बाइपास स्थित सैम्फोर्ड अस्पताल में भर्ती कराया गया था और बीते गुरुवार की सुबह उसकी मौत हो गई.

इस मामले में अस्पताल का बकाया बिल 35 हजार था और उतनी रकम परिजनों के पास नहीं थी इस कारण से अस्पताल प्रशासन ने शव को तीन घंटे तक परिजनों को नहीं सौंपा. वहीं काफी देर तक परिजनों ने हंगामा भी किया और मृतका के भतीजे बबलू ने बताया कि ''बाद में अस्पताल को 30 हजार रुपए दे दिए गए.'' इसी के साथ बबलू ने बताया कि एनएमसीएच में पोस्टमार्टम हो गया और फिर शव को लेकर रवाना हो गए और बबलू ने बताया कि ''मृतका की ससुराल फारबिसगंज है, वहीं शव लेकर रवाना हुए हैं.''

वहीं अस्पताल के डॉक्टर अजीत कुमार ने बताया कि ''बिल बकाया था. बिल जमा होने के बाद शव सौंप दिया.'' वैसे इस मामले को पहला मामला नहीं कहा जा सकता है क्योंकि ऐसे कई मामले अब तक सामने आ चुके हैं.

घर में घुसे 2 युवक और 5 साल की लड़की को बनाया अपनी हैवानियत का शिकार

बेटी की शादी करवाने के खिलाफ थी माँ, गंवानी पड़ी जान

लिफ्ट देने के बहाने युवक को घर लाती थीं माँ बेटी और फिर...