भूस्खलन के 32 घंटे बाद खुल गया गंगोत्री हाईवे

उत्तरकाशी में सुनगर और गंगनानी के बीच भूस्खलन से अवरुद्ध गंगोत्री हाईवे पर दूसरे दिन यातायात बहाल हो सका। बीआरओ के जवानों ने यहां भूस्खलन में आए भारी बोल्डरों को तोड़कर वाहनों की आवाजाही लायक सड़क तैयार कर दी है।बता दें कि गुरुवार को सुनगर के पास भारी भूस्खलन होने से गंगोत्री हाईवे अवरुद्ध हो गया था। इसी स्थान पर पूर्व में भी भूस्खलन से हाईवे अवरुद्ध हो चुका है। आए दिन हो रही बरसात के कारण यह हिस्सा डेंजर जोन बनता जा रहा है।

भूस्खलन में आए भारी बोल्डरों को हटाने में बीआरओ के जवानों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है। दिन रात काम करके बीआरओ के जवानों ने इन भारी बोल्डरों को ब्लास्टिंग कर वहां से हटाया।शुक्रवार दोपहर पौने दो बजे यहां यातायात बहाल कर लिया गया। गंगोत्री हाईवे पर यातायात बहाल होने पर उपला टकनौर क्षेत्र के ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। हालांकि बारिश होने पर यहां अब भी भूस्खलन से हाईवे अवरुद्ध होने का खतरा बना हुआ है।उत्तराखंड में मौसम फिर करवट बदलेगा। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की 10 व 11 मई को प्रदेश में ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग ने बृहस्पतिवार को अगले पांच दिनों के मौसम का पूर्वानुमान जारी करते हुए यह जानकारी दी है।विभाग के मुताबिक, इस सप्ताह लगातार हल्की बारिश, कुछ जगहों पर ओले पड़ने का सिलसिला भी जारी रहेगा। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि आठ मई को प्रदेश के अनेक हिस्सों में आंशिक बादल छाए रह सकते हैं। नौ मई को प्रदेशभर के अनेक स्थानों पर बारिश और ओलावृष्टि हो सकती है।

बिहार के कई जिलों में तेज आंधी-तूफान के साथ हुई बारिश, पांच लोगों की मौत

Video: यहाँ सड़क पर निकल पड़ी पब्लिक, चिल्ला रही- 'खाना दो या गोली मार दो'

स्वदेश लाए गए 234 भारतीय, सिंगापुर से दिल्ली पहुंची एयर इंडिया की फ्लाइट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -