पूर्व मुख्य न्यायाधीश कपाड़िया का हुआ निधन

Jan 05 2016 02:55 PM
पूर्व मुख्य न्यायाधीश कपाड़िया का हुआ निधन

नई दिल्ली : साल के शुरुआत में ही मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के वरिष्ठ नेता ए बी बर्धन के निधन के बाद अब पूर्व चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया सरोश होमी कपाड़िया का सोमवार की रात को निधन हो गया। वो 68 वर्ष के थे। जस्टिस कपाड़िया के परिवार में उनकी पत्नी के अलावा एक बेटा और एक बेटी है। उनका अंतिम मंगलवार को मुंबई में किया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। मोदी ने अपने शोक संदेश में कहा है कि कपाडि़या एक बेहतरीन कानूनविद थे, जिन्होंने हमारी न्यायपालिका को समृद्ध किया। उनका योगदान हमेशा याद रखा जायेगा। उनके निधन से हमें दुख पहुंचा है। जस्टिस कपाड़िया 2010 में भारत के मुख्य न्यायाधीश बने थे और सितंबर 2012 में रिटायर हुए थे।

वो देश के 38वें मुख्य न्यायाधीश थे। उन्होने अपने कार्यकाल के दौरान तीन केसों पर कड़ा रुख अपनाया, जिनमें से केंद्रीय सतर्कता आयुक्त की नियुक्ति को निरस्त करना, लालू प्रसाद यादव की जमानत रद्द करने के मामले में असहमति और वोडाफोन-हचसन कर मामला शामिल है। वो भारतीय होने पर गर्व महसूस करते थे और उनका कहना था कि ये केवल भारत में ही मुमकिन है कि किसी अल्पसंख्यक समुदाय का कोई व्यक्ति चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया हो सकता है। वो स्वंय एक पारसी थे।