गलवान झड़प पर चीन का बड़ा कबूलनामा, पहली बार स्वीकारी अपने सैनिकों के मरने की बात

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद का मुद्दा अब धीरे- धीरे सुलझता नज़र आ रहा है। वहीं चीन ने पहली बार औपचारिक तौर पर यह स्वीकार किया है कि गलवान घाटी की हिंसक झड़प में उनके भी सैनिक मारे गए थे। चीन की पीपुल्‍स लिबरेशन आर्मी ने संघर्ष के बाद पहली बार मारे गए अपने जवानों की तादाद बताई है। 

चीनी सेना का दावा है कि गलवान घाटी की हिंसक झड़प में उसके 5 सैनिक मारे गए थे। हालांकि, चीन के कबूलनामे का यह आंकड़ा बेहद कम है, क्योंकि भारत सहित पूरी दुनिया की कई एजेंसियों ने इसका आंकड़ा बहुत अधिक बताया था। बता दें कि गत वर्ष जून महीने में हुए गलवान संघर्ष में भारत के 20 जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे। चीन ने भले ही अपने सैनिकों की तादाद को संघर्ष के कई महीनों बाद कबूल किया है, किन्तु अब भी उसने हकीकत नहीं बताई है। क्योंकि जिस तरह की रिपोर्ट देश-विदेश से आईं, उसमें चीनी सैनिकों के बड़ी संख्या में मारे जाने की बात कही जा रही थी।

इसके साथ ही भारत ने भी दावा किया था कि चीन के लगभग 40 से ज्यादा सैनिक गलवान संघर्ष में मारे गए थे। यही नहीं, हाल ही में रूसी सामाचार एजेंसी TASS ने यह दावा किया कि 15 जून को गलवान घाटी झड़प में कम से कम 45 चीनी सैनिकों की मौत हुई थी। इससे पहले भी कई रिपोर्ट में ऐसे खुलासे हुए थे। लेकिन चीन ने तब तक आधिकारिक तौर पर अपने सैनिकों के मरने की बात को नहीं स्वीकारा था।

मिजोरम नेशनल फ्रंट ने जीता आइजोल नगर निगम चुनाव

अबकी बार 100 के पार ! लगातार 11वें दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

पीरामल समूह को ऋण प्रभावित डीएचएफएल प्राप्त करने के लिए आरबीआई से मिली मंजूरी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -