दवा बेचने पर स्नैपडील पर FDA ने की कार्रवाई

Apr 18 2015 02:16 PM
दवा बेचने पर स्नैपडील पर FDA ने की कार्रवाई
मुंबई : फूड ऐंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) द्वारा बिना प्रिस्क्रिप्शन के आॅनलाईन माध्यम से दवा दिए जाने के मामले में दबिश देकर आरोपियों को पकड़ लिया। मामले में ईकाॅमर्स की लोकप्रिय वेबसाईट स्नेपडिल का नाम सामने आने के बाद मामला और गंभीर हो गया। मिली जानकारी के अनुसार मुंबई के गोरेगांव क्षेत्र में स्थित दफ्तर में बिना प्रिस्क्रिप्ट के आॅनलाईन दवाईयां दिए जाने को लेकर एफडीए को सूचना मिली थी। 

जिस पर एफडी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने कंपनी के दफ्तर पहुंचकर दबिश दी। इसी दौरान एफडीए को यहां से एसकोरिल कफ सिरप, विगोरा टैबलेट की सप्लाय इस वेबसाईट के माध्यम से होने की बात का पता चला। हालांकि दवाईयों की सप्लाय के बाद भी इसकी प्रिस्क्रिप्ट कंपनी के पास नहीं थी। जिसके बाद एफडीए ने वेबसाईट को नोटिस जारी कर दिया। एफडीए द्वारा एक और ईकाॅमर्स वेबसाईट अमेजन के कार्यालय पर भी कार्रवाई किए जाने के संकेत दिए गए हैं। एफडीए ने अपने आदेश के तहत वेबसाईट से दवाओं की बिक्री की जानकारी हटाने को कहा है। 

मिली जानकारी के अनुसार इस वेबसाईट के माध्यम से ऐसी दवाऐं बेची जा रही हैं जो बगैर प्रिस्क्रिप्ट के नहीं दी जा सकती। हालांकि एफडीए के निर्देशों के बाद स्नेपडील ने वेबसाईट से दवाओं की जानकारी हटा ली है। संभावना जताई जा रही है कि मामले में ड्रग एंड काॅस्मेटिक एक्ट, 1940 के सेक्शन 18 (सी) के तहत कार्रवाई की जा सकती है। दरअसल कानून के अनुसार लाईसेंस प्राप्त दवा विक्रेता ही दवाईयों की बिक्री करने के लिए मान्य हैं। बिना प्रिस्क्रिप्ट के दवाऐं दिया जाना भी कानूनन उचित नहीं हैं