ISIS के खिलाफ जारी हुआ फतवा, जन्नत के नाम पर कर रहे है गुमराह, बहकावे में न आएं

सीरिया : मशहूर इस्‍लामी शिक्षा संस्‍थान दारूल-उलूम फिरंगी महल ने एक फतवा जारी किया है जिसमे क्रूर आतंकी संगठन को ग़ैर इस्‍लामी करार दिया है। इस फतवे में बताया गया है कि ISIS के दहशतगर्द हिंदुस्‍तानी मुस्लिम युवाओ को यह कहकर की ISIS में शामिल होने पर जन्नत मिलेगी के नाम पर बहका रहे हैं। ये झूठ और धोखा है। नौजवान उनके बहकावे में ना आएं।

बता दे की ये फतवा ऐसे समय आया है जब कुछ लोग कश्‍मीर में ISIS के झंडे लहराते देखे गए हैं जिसके कारण इस बात का संदेह है कि ISIS अपनी नजर हिंदुस्‍तानी मुस्लिम नौजवानों पर रख रहा है। बता दे की हाल ही में कुछ लोगो की ISIS में भर्ती होने की भी खबरें सामने आई थीं। वही मुस्लिम धर्म गुरु मौलाना खालिद राशिद फिरंगी महली ने कहा की, इस तरह की हरकतों के लिए इस्‍लाम में कोई जगह नहीं है। और उसमें इस बात की वज़ाहत की गई है कि कुरान में अल्‍लाह ताला बार-बार फरमाता है कि अल्‍ला ताला ज़मीन पर फसाद और बिगाड़ पैदा करने वालों को पसंद नहीं करता है।

ISIS के आतंकवादी सीरिया और इराक में बड़े स्तर पर हिंसा और क़त्‍ल-ए-आम कर रहे हैं। कई मुसलमानों के सिर काट चुके हैं। मौलाना ने कहा की ISIS ने कई पुरातत्व इमारतों को नष्ट किया है, नोजवानो का कत्लेआम किया, महिलाओ का अपहरण कर उन्हें दासियां बनाकर उनके साथ बलात्कार किया और यहाँ तक की औरतो की मंडी तक लगा दी, ये सभी वहशियाना हरकत इस्लाम के खिलाफ है। ISIS युवाओ को जन्नत के नाम पर भटकाना चाहते है और उन्हें संगठन में शामिल होने के लिए लुभा रहे है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -