कोरोना वायरस : इस देश से दुल्हन लाने के लिए तरस रहे भारत के दूल्हे

Mar 26 2020 09:48 AM
कोरोना वायरस : इस देश से दुल्हन लाने के लिए तरस रहे भारत के दूल्हे

दुनियाभर में पड़ोसी मुल्कों में बहुत अच्छे संबध होते है. वैसे ही भारत और नेपाल के बीच रोटी-बेटी का संबंध है. इसी वजह से दोनों देशों के लोग एक दूसरे के देश में अपने बेटे बेटियों की शादी करते हैं. शादी विवाह पर अब कोरोना का असर दिख रहा है. सोमवार को सोनौली सीमा से दो दूल्हों को बिना शादी किए ही बैरंग लौटा दिया गया. यह दोनों दूल्हे अपनी बरात लेकर नेपाल जाना चाह रहे थे, लेकिन नेपाल सरकार ने किसी भी नागरिक के प्रवेश पर रोक लगा दिया है. ऐसे में इन्हें शादी करने का भी मौका नहीं मिला. महबूब आलम निवासी मिठौरा महराजगंज जिसकी शादी शबनम खातून से नेपाल के कपिलवस्तु जिले के पडारी चौराहा पर होनी थी.  दूसरा दूल्हा रफीक अहमद निवासी रामचौरा कैंपियरगंज जिसकी शादी भैरहवा गल्ला मंडी होनी थी.  

CORONA: आदेशों के बाद भी नहीं दिए गए मास्क और सैनिटाइजर

इन दोनों ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हम लोग अपनी बरात लेकर नेपाल जा रहे थे, लेकिन नेपाली प्रशासन ने हमें नेपाल जाने से रोक दिया. अब हम वापस अपने घर को जा रहे है.

कोरोना के खिलाफ जंग में 130 करोड़ जनता को सारथी बनाकर पीएम मोदी ने बोली ये बात

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि नेपाल में दो कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं. इस बात की जानकारी नेपाल के स्वास्थ्य मंत्री भानु भक्त ढकाल ने दी. उन्होंने बताया कि दो नेपाली नागरिक में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई है. बताया कि 19 वर्षीय युवक का काठमांडू में टेकु स्थित शुक्र राज ट्रापिकल हास्पिटल में इलाज चल रहा है. उक्त छात्र चीन से नेपाल आया था. दूसरी संक्रमित एक युवती है. वह फ्रांस से कुवैत होते हुए नेपाल आई थी. नेपाल आने के बाद उसे 14 दिन आइसोलेशन रूम में रखा गया था. जहां कोरोना संक्रमण नहीं पाया गया. रविवार को उसकी फिर जांच हुई तो उसमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई.

अर्द्धसैनिक बलों के अस्पतालों में होगा केवल कोरोना पीड़ितों का इलाज़

CORONAVIRUS: हरियाणा में 18 नए मामले आए सामने

दर्दनाक हादसा: फैक्ट्री के टैंक में दम घुटने से हुई 3 की मौत