अर्द्धसैनिक बलों के अस्पतालों में होगा केवल कोरोना पीड़ितों का इलाज़

अर्द्धसैनिक बलों के अस्पतालों में होगा केवल कोरोना पीड़ितों का इलाज़

नई दिल्ली: एकाएक बढ़ा ही जा रहा कोरोना का प्रकोप आज पूरी दुनिया के लिए महामारी का रूप लेता रहा है. वही  इस वायरस की चपेट में आने से अब तक 19000 से अधिक मौते हो चुकी है. लेकिन अब भी यह मौत का खेल थमा नहीं है. इस वायरस ने आज पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है. वहीं देश में अर्द्धसैनिक बलों (सीएपीएफ) के 32 अस्पतालों को सरकार ने अपने नियंत्रण में ले लिया है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को बताया कि करीब 1900 बिस्तरों की कुल क्षमता वाले इन अस्पतालों का इस्तेमाल सरकार कोरोन वायरस से पीड़ित मरीजों के आइसोलेशन और इलाज के लिए करेगी. अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय में सचिव (सीमा प्रबंधन) की अध्यक्षता वाली उच्च स्तरीय बैठक के बाद इन सुरक्षा बलों के अस्पतालों का ‘तत्काल’ उपयोग करने का निर्णय लिया गया. इसके लिए सभी सुरक्षा बलों के चिकित्सकीय विंग की तरफ से अपने अपने अस्पताल को आदेश भी जारी कर दिए गए हैं. 

जंहा इस बात को लेकर उन्होंने बताया कि सीआरपीएफ, बीएसएफ, एसएसबी और आईटीबीपी की तरफ से संचालित इन 32 अस्पतालों में कुल 1890 बिस्तर मौजूद हैं. आदेश में कहा गया है कि प्रशिक्षित स्टाफ और विशेष उपकरणों की ‘भारी कमी’ से जूझ रहे इन अस्पतालों में विशेषज्ञ चिकित्सकों और वेंटिलेटर व स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा ड्यूटी पर उपयोग किए जाने वाले निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) सरीखे मेडिकल उपकरण भेजे जा रहे हैं. आदेश में यह भी कहा गया है कि इन अस्पतालों में पहले से भर्ती सुरक्षा बलों के जवान या उनके परिजनों को कहीं अन्य जगह शिफ्ट करने का इंतजाम किया जाए, ताकि कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़ने पर परेशानी न हो.

पहले 5400 लोगों को क्वारंटीन करने का किया था इंतजार: मिली जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार के निर्देश पर इस महीने की शुरुआत में सीएपीएफ ने देश में 37 स्थानों पर 5400 लोगों को क्वारंटीन (एकांतवास) में रखने का इंतजाम किया था. सबसे बड़ा सीएपीएफ क्वारंटीन सेंटर आईटीबीपी ने दिल्ली के छावला एरिया में बनाया था, जहां एक हजार लोगों को रखने की व्यवस्था थी.

कोरोना वायरस की दहशत में इस दिग्गज बांग्‍लादेशी नेता को मिली जेल से रिहाई

मप्र: राज्य में कोरोना से हुई पहेली मौत, टेस्ट से पहले भागा परिवार का संदिग्ध शख्स

भोपाल के बाद अब इंदौर में भी लागू हुआ कर्फ्यू, मध्य प्रदेश में कोरोना के 6 मामले दर्ज