दर्दनाक हादसा: फैक्ट्री के टैंक में दम घुटने से हुई 3 की मौत

दर्दनाक हादसा: फैक्ट्री के टैंक में दम घुटने से हुई 3 की मौत

नई दिल्ली: हमारे देश में दिनों दिन बढ़ती जा रही घटनाओं की वारदातें आज इस कदर बढ़ गई है कि लोगों का जीना और मरना एक ही हो गया है. जितनी जिंदगियां जमन लेती है तो वहीं उतनी कोई न कोई हादसे का शिकार भी हो जाती है. यही नहीं हर रोज कोई न कोई ऐसा मामला सामने आ ही जाता है जो लोगों को पूरी तरह से लोगों को हिला कर रख देता है. हाल ही में बाहरी-उत्तरी जिले के खेड़ा खुर्द गांव में अचार फैक्टरी के टैंक में दम घुटने से मालिक राहुल समेत दो लोगों की मौत हो गई. मृतकों की शिनाख्त सचिन और राहुल के रूप में हुई है. 

मिली जानकारी के अनुसार फैक्टरी में अचार गलाने के लिए दो बड़े-बड़े टैंक हैं. सोमवार रात को दोनों टैंक में अचार को देखने के लिए उतरे थे लेकिन किसी जहरीली गैस की चपेट में आकर दोनों अचेत हो गए. सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को टैंक से निकालकर बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. नरेला इंडस्ट्रियल एरिया थाना पुलिस ने लापरवाही से मौत का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है. क्राइम टीम ने मौके से सैंपल उठाकर जांच के लिए एफएसएल भेजे हैं. 

जंहा पुलिस के मुताबिक राहुल अपने परिवार के साथ लॉर्ड बुद्धा अपार्टमेंट, इंद्र एंक्लेव, न्यू रोहतक रोड पर रहता था. इसके परिवार में पिता राजकुमार, मां, पत्नी, बच्चे व अन्य सदस्य हैं. राहुल ने ए-43 ओम शांति वाली गली खेड़ा खुर्द गांव में अचार की फैक्टरी लगाई हुई थी.  खेड़ा खुर्द गांव निवासी सचिन इसके पास ही अचार की फैक्टरी में काम करता था. सचिन के अलावा तीन-चार अन्य लोग भी इसके पास काम करते थे. वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राहुल ने अचार गलाने के लिए फैक्टरी में करीब दस फुट गहरे और आठ फुट लंबे दो टैंक बनाए हुए थे.  फिलहाल इन लोगों ने गाजर का अचार डाला हुआ था. सोमवार रात करीब पौने आठ बजे सचिन के साथ राहुल गाजर का अचार गला या नहीं, यह देखने टैंक में उतरा था. टैंक में उतरते ही दोनों अचेत हो गए. मामले की सूचना बाकी लोगों ने पुलिस को दी. 

कोरोना वायरस की दहशत में इस दिग्गज बांग्‍लादेशी नेता को मिली जेल से रिहाई

मप्र: राज्य में कोरोना से हुई पहेली मौत, टेस्ट से पहले भागा परिवार का संदिग्ध शख्स

भोपाल के बाद अब इंदौर में भी लागू हुआ कर्फ्यू, मध्य प्रदेश में कोरोना के 6 मामले दर्ज