बिहार के अस्पतालों में कुत्तों का राज

मुजफ्फरपुर के सदर अस्पताल का एक वीडियो सामने आया है जिसमें अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में मरीजों के बेड पर कुत्ते सोते हुए नजर आ रहे हैं. सूत्रों की माने तो यह वीडियो कुछ ही दिन पहले अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में भर्ती एक मरीज के सहायक ने अपने मोबाइल से बना ली है. सदर अस्पताल में लापरवाही की ये पहली घटना नहीं है. कुछ दिन पहले एक बुजुर्ग महिला की लावारिस लाश मिली थी, जिसे कचरे की गाड़ी में डाल कर अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जा रह था.

लापरवाह स्वास्थ्य अधिकारियों पर कार्रवाई करते हुए जिलाधिकारी धर्मेंद्र सिंह ने उप-मेडिकल सुपरिटेंडेंट की तनख्वाह पर रोक लगा दी. सर्जिकल वार्ड में 40 बेड हैं और वीडियो में नजर आ रहा है कि, रात के वक्त उन 40 बेड में से 10 पर कुत्तों का कब्जा है. इस वायरल वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि सर्जिकल वार्ड में कोई भी स्वास्थ्यकर्मी या सुरक्षाकर्मी मौजूद नहीं है.

जिलाधिकारी ने कहा कि यह एक गंभीर विषय है. इसके लिए उन्होंने निर्देश दिए हैं, कि अस्पताल के हर वार्ड में वार्ड बॉय और सुरक्षाकर्मियों का रहना अनिवार्य होगा ताकि किसी भी प्रकार के पशु का प्रवेश रोका जा सके. इससे पहले भी इसी तरह के आश्वासन दिए गए है, मगर आये दिन अस्पताल इस तरह के विवादों के चलते चर्चा में बना रहता है.

यहाँ क्लिक करे 

बड़े पद पर मेरे लोग ना हों - लालू प्रसाद यादव

क्या था लालु के बंद लिफाफे में ?

मोदी के बेटे की अनोखी शादी आज

मार्च 1971 से पहले के नागरिक भारतीय नहीं है !

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -