कच्चे तेल की कीमतों में आई भारी गिरावट, क्या भारत में गिरेंगे पेट्रोल-डीजल के भाव ?

नई दिल्ली: कच्चे तेल (Crude OIl) की कीमतों में गिरावट आने की वजह से लोगों को महंगाई से थोड़ी राहत की उम्मीदें बढ़ गई है। गुरुवार को शुरुआती कारोबार में तेल की कीमतों में 2 फीसद की गिरावट आने से घाटे में और वृद्धि हुई है। निवेशकों को चिंता थी कि आक्रामक अमेरिकी ब्याज दरों में वृद्धि मंदी और ईंधन की डिमांड को कम कर सकती है। US वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट (WTI) क्रूड CLc1 फ्यूचर्स $ 2.39, या 2.3% की गिरावट के साथ 0031 GMT से 103.80 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया है।

वहीं, ब्रेंट क्रूड LCOc1 फ्यूचर्स 2.24 डॉलर या 2.0% गिरकर 109.50 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया है। दोनों बेंचमार्क बुधवार को करीब 3 फीसद की गिरावट के साथ मई के मध्य के बाद से अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गए हैं। वहीं, ब्रेंट क्रूड का दाम 110 डॉलर प्रति बैरल से नीचे आ गया है। WTI क्रूड की कीमतों में भी गिरावट दर्ज की गई है। क्रूड आयल की कीमतों में नरमी आने कुछ राहत जरूर मिली है। हालांकि, अमेरिका ने आशंका जताई है कि भारत और चीन, रूस से अधिक मात्रा में तेल खरीद रहे हैं। इसके कारण ही यह गिरावट आई है। इस महीने की शुरुआत में WTI क्रूड की कीमतों में 122 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर पहुंच गया था। इसकी कीमतों में गिरावट से पेट्रोल और डीजल की कीमतें भी गिरने की संभावनाएं बढ़ गई हैं।

निवेशक यह अनुमान लगा रहे हैं कि केंद्रीय बैंकों को संभावित रूप से विश्व अर्थव्यवस्था को मंदी में धकेलने के संबंध में उन्हें कितना चिंतित होना चाहिए, क्योंकि वे ब्याज दर में बढ़ोतरी के साथ मुद्रास्फीति को रोकने की कोशिश करते हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि, 'तेल बाजार दबाव में रहा, क्योंकि निवेशक चिंतित थे कि अमेरिकी दरों में वृद्धि आर्थिक सुधार को रोक देगी और ईंधन की मांग को कम कर देगी।' उन्होंने कहा कि, संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) में 4 जुलाई की छुट्टी से पहले WTI 100 डॉलर प्रति बैरल से नीचे आ सकता है।

बता दें कि, अभी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है। गुरुवार को भी यह 96.72 रुपये प्रति लीटर रहा, वहीं डीजल 89.62 रुपये लीटर के हिसाब से मिल रहा है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 111.35 रुपये प्रति लीटर और डीजल की 97.28 रुपये प्रति लीटर है। बता दें कि बीते दिनों जब रूस-यूक्रेन के बीच युद्ध शुरू हुआ था, तब देश में पेट्रोल-डीजल के दाम बहुत अधिक हो गए थे।

जेपी नड्डा के घर के आगे आगज़नी करने वाले NSUI के 4 सदस्य गिरफ्तार

'ऐसे चुनाव से क्या फायदा..', रामपुर में जारी मतदान के बीच अब्दुल्ला आज़म ने लगाए गंभीर आरोप

कैलाश विजयवर्गीय ने इस नेता को ठहराया महाराष्ट्र में मचे सियासी घमासान का जिम्मेदार

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -