'ऐसे चुनाव से क्या फायदा..', रामपुर में जारी मतदान के बीच अब्दुल्ला आज़म ने लगाए गंभीर आरोप

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के लिए वोटिंग जारी है। इस बीच समाजवादी पार्टी (सपा) ने दोनों जगहों पर प्रशासन और पुलिस को कठघरे में खड़ा करने का प्रयास किया है। रामपुर में तो सपा MLA अब्‍दुल्‍ला आजम ने यहां तक‍ कह डाला कि ऐसे चुनाव से कोई फायदा नहीं है। उन्‍होंने आरोप लगाते हुए कहा कि रामपुर में वोट देने के लिए दो ID दिखाने का नियम लागू किया गया है। हालांकि, प्रशासन ने उनके आरोपों की पुष्टि नहीं की। 

वहीं, सपा की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्‍य अरविंद सिंह ने मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त को लिखी एक चिट्ठी में इल्जाम लगाया है कि आजमगढ़ के गोपालपुर, सगड़ी, मुबारकपुर, आजमगढ़ सदर और मेहनगर विधानसभा क्षेत्रों के सभी मतदान केंद्रों से एक साजिश के तहत भाजपा के इशारे पर गड़बड़ी करने के इरादे से उनकी पार्टी के सभी बूथ एजेंटों को निकाल दिया गया है। उन्‍होंने आशंका जाहिर की है कि इससे चुनाव में बड़े स्तर पर धांधली हो सकती है। उन्‍होंने निर्वाचन आयोग से इस मामले में फ़ौरन कार्रवाई करने की मांग की है। 

रामपुर को लेकर सपा की तरफ से कार्यकर्ताओं पर हो रही कार्रवाई के खिलाफ निर्वाचन आयोग से शिकायत की जा रही है। एक शिकायत में कहा गया है कि मतदान को प्रभावित करने के लिए स्‍वार विधानसभा क्षेत्र के टांडा और दरयाल क्षेत्रों में सपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की गई। सपा ने पुलिस पर गंभीर इल्जाम लगाया है। कल कुछ सपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस एक्शन को लेकर आज आजम खान ने भी सरकार पर तंज कसा। आजम ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, 'हमसे बड़ा अपराधी कौन है? तो हमारे साथ जो चाहे करे। मुर्गी, बकरी, भैंस, पुस्तक और फर्नीचर के आरोपी है तो हमारे शहर को भी वैसा मना गया है, तो जो चाहे करे..हमें तो सहना है रहना है।' 

कैलाश विजयवर्गीय ने इस नेता को ठहराया महाराष्ट्र में मचे सियासी घमासान का जिम्मेदार

'केसरिया में हरा-हरा, राजस्थान में वसुंधरा..', सूबे में विधानसभा चुनाव से पहले शुरू हुआ घमासान

'10 लाख दो वरना ठोंक देंगे..', AAP विधायक संजीव झा को मिली नीरज बवाना गैंग की धमकी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -