शहीद मेजर प्रफुल्ल के साहस की दास्तान

Dec 27 2017 10:32 AM
शहीद मेजर प्रफुल्ल के साहस की दास्तान

देश के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान करने वाले वीर जवानों और अधिकारियों को अपने साहस का प्रदर्शन करने की चाहत कभी नहीं रहती. उनके साहस का मूल्यांकन तो सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा पूरा देश करता है . लेकिन आज के इस उन्नत तकनीकी युग में नए संसाधनों के चलते सेना के जांबाजों के साहस के प्रमाण मिलने से उनके अदम्य साहस का पता चलता है.ऐसा ही एक मामला शहीद मेजर प्रफुल्ल मोहारकर का सामने आया है , जिसमें उनके साहस की झलक दिखाई दे रही है . यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है .

उल्लेखनीय है कि शनिवार को जम्मू कश्मीर के राजौरी स्थित केरी सेक्टर में शहीद हुए मेजर प्रफुल्ल अंबादास मोहारकर की शहादत को पूरा देश नमन कर रहा है .पाकिस्तान की ओर से अचानक हुई फायरिंग में शहीद हुए मेजर प्रफुल्ल का जो वीडियो वायरल हो रहा है, उसमें घायल होने के बाद भी मेजर प्रफुल्ल अपने जवानों को दुश्मनों को जवाब देने के साथ ही कंपनी को भी सुरक्षित निकलने के निर्देश देते दिखाई दे रहे हैं.

बता दें कि इस वीडियो में खुद घायल होने के बावजूद भी मेजर प्रफुल्ल जितने भी जवान घायल हुए हैं पहले उन्हें सुरक्षित निकालने की बात कह रहे हैं. जबकि उनकी टीम उन्हें आराम करने और शांत रहने की बात कह रही है लेकिन फिर भी प्रफुल्ल बराबर जवानों को सिंगल शूट फायर करने का आदेश दे रहे हैं. वीडियो के आखिर में मेजर प्रफुल्ल अपने जवानों से यह भी कह रहे हैं कि जैसे ही हेलीकॉप्टर उन्हें लोकेट करने आए तो वह आग जला दें ताकि उनका पता चल सके. इस वीडियो में उनका साहस साफ झलक रहा है.स्मरण रहे कि मेजर प्रफुल्ल मोहारकर के साथ सिपाही परगट सिंह, लांस नायक गुरमेल सिंह और लांस नायक कुलदीप सिंह भी पाक की ओर से केरी सेक्टर में हुई फायरिंग में शहीद हो गए थे.

यह भी देखें

भारतीय सेना के रणनीतिक हमले के वे 45 मिनट

पाकिस्तान ने फिर किया झूठा दावा, हमने मारे इंडियन आर्मी के तीन सैनिक

 

?