कोरोना : चिकित्सा उपकरणों की कीमत को सीमित करने के लिए सरकार ने किया ये काम

दुनिया के 122 देश कोरोनावायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे है. इस वायरस ने काफी सारे देशों को अपनी चपेट में ले लिया है. वही, कोरोना वायरस महामारी से जंग के बीच कुछ कंपनियों द्वारा चिकित्सा उपकरणों की कीमत में बढ़ोतरी के खिलाफ सरकार ने सख्त कदम उठाया है.नेशनल फार्मा प्राइसिंग अथॉरिटी (एनपीपीए) ने नया नोटिफिकेशन जारी करते हुए 24 तरह के चिकित्सा उपकरणों को आवश्यक दवाओं की सूची में शामिल कर दिया है. 

पुलिस पर हुआ पथराव देख भड़कीं रवीना, कहा- ''पथराव...क्यों'

साथ ही, उसने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को आदेश जारी कर पर्सनल प्रेटेक्टिव इक्विपमेंट्स (पीपीई), मास्क, ग्लव्स, टेस्टिंग किट और वेंटिलेटरों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं.

Video: कोरोना संदिग्ध को देखते पहुंची डॉक्टरों की टीम, भीड़ ने पत्थर-डंडों से कर दिया हमला

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि एनपीपीए की तरफ से लागू किए गए नए नोटीफिकेशन में साफ कर दिया गया है कि इन चिकित्सा उपकरणों की गुणवत्ता में कोई कमी नहीं आनी चाहिए और उनकी खुदरा कीमत में 10 फीसद से अधिक इजाफा नहीं किया जा सकता. यह 10 फीसद इजाफा पिछले 12 महीने के अधिकतम कीमत पर ही हो सकता है. इसका उल्लंघन करने वाले निर्माताओं और वितरकों पर जुर्माने के साथ-साथ अधिक ली गई राशि भी वसूली जाएगी.

कोरोना को लेकर पीएम मोदी की महाबैठक आज, देश के सभी मुख्यमंत्रियों से करेंगे चर्चा

कोरोना से लड़ने के लिए बनाई गई ख़ास टनल, 90 में हुई तैयार

तब्लीगी जमात के 6000 लोगों की हुई पहचान, किया गया क्वारंटाइन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -