भारत और चीन की सीमा पर बनाई जा रही सड़क, युद्ध की स्थिति में होगा फायदा

भारत और चीन की सीमा पर बनाई जा रही सड़क, युद्ध की स्थिति में होगा फायदा

रविवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश में सीमा के बुनियादी ढांचे से संबंधित कई परियोजनाओं पर काम चल रहा है.गडकरी ने कहा कि BRO और NHIDCL इन परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं.उन्होंने कहा कि 17 रणनीतिक राजमार्ग और एयरस्ट्रिप्स पर काम चल रहा है.इनमें से तीन परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं.इसके अलावा 12,000 करोड़ रुपये की महत्वाकांक्षी परियोजना पर पूरी रफ्तार से काम हो रहा है.इस परियोजना के पूरा होने के बाद गंगोत्री, केदारनाथ, यमुनोत्री और बदरीनाथ को हर मौसम में जोड़ने कनेक्टिविटी विकसित हो जाएगी.गडकरी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव देखने को मिल रहा है.

PM Kisan : किसान योजना की स्कीम का फायदा उठाने का ये आसान तरीका

अपने बयान में गडकरी ने बताया कि सीमा सड़क संगठन (BRO) ने ऋषिकेश-धरासु राष्ट्रीय राजमार्ग पर चंबा शहर के नीचे 440 मीटर लंबी सुरंग का काम सफलतापूर्वक पूरा करके बड़ी सफलता हासिल की है.वही, गडकरी ने कहा, ''हमने 17 स्ट्रैटजिक प्रोजेक्ट्स में से तीन परियोजनाओं का काम पूरा कर लिया है.इनमें से अधिकतर परियोजनाएं सीमावर्ती इलाकों से लगी हुई हैं.बाकी परियोजनाओं पर भी तेजी से काम चल रहा है।

फ्री में करवा सकते है कोरोना का इलाज, बहुत आसान है तरीका

उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्रालय के सहयोग से इन परियोजनाओं पर काम चल रहा है.इन परियोजनाओं का विकास इस प्रकार से किया जा रहा है कि जरूरत पड़ने पर इन राजमार्गों का इस्तेमाल विमानों को उतारने और उड़ान भरने के लिए किया जा सकेगा.वही, इससे पहले इन राजमार्ग परियोजनाओं की योजना तैयार करने के लिए राजमार्ग मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों की एक समिति का गठन किया गया था. 

कोरोना के चलते आयकर विभाग ने दी राहत, अब 30 नवंबर तक भरें ITR

भारत के बाजार में आ सकता है देसी TikTok, इंफोसिस के चेयरमैन ने दिए

संकेतइस दिग्गज आईटी कंपनी पर पड़ी कोरोना की मार, 18000 कर्मचारियों की नौकरी पर लटकी तलवार