इस दिग्गज आईटी कंपनी पर पड़ी कोरोना की मार, 18000 कर्मचारियों की नौकरी पर लटकी तलवार

इस दिग्गज आईटी कंपनी पर पड़ी कोरोना की मार, 18000 कर्मचारियों की नौकरी पर लटकी तलवार

नई दिल्ली: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का असर अब आईटी कंपनियों पर साफ-साफ नज़र आने लगा है, जिसके कारण छंटनी की शुरुआत हो चुकी है। देश की दिग्गज आईटी कंपनी Cognizant ने देश के विभिन्न शहरों में अपने ऑफिस से कर्मचारियों की छंटनी शुरू कर दी है। यह दावा IT एंप्लॉयी यूनियन की ओर से किया गया है।

कंपनी ने कितने लोगों की छंटनी की है, इसको लेकर अभी पुख्ता जानकारी तो नहीं है, किन्तु माना जा रहा है कि सैकड़ों एंप्लॉयी की छंटनी की गई है। ऑल इंडिया फोरम फॉर आईटी एंप्लॉयी (AIFITE) के जनरल सेक्रेटरी एजे विनोद ने बताया है कि कॉग्निजेंट ने चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद, पुणे, कोच्चि और कोलकाता कार्यालय से सैकड़ों एंप्लॉयी की छंटनी की है। AIFITE ने लेबर डिपार्टमेंट और सरकार से कहा कि 18 हजार के लगभग कर्मचारी बेंच पर हैं। बेंच का मतलब होता है कि उनके पास अभी काम करने के लिए कोई प्रॉजेक्ट नहीं है। ऐसे में इनकी नौकरी जाने का खतरा काफी अधिक है।

अक्टूबर 2019 में कंपनी के CEO ब्रायन हमफायर ने ऐलान किया था कि आने वाले वक़्त में कंपनी पूरी दुनिया में 13 हजार एंप्लॉयी की छंटनी करेगी। हालांकि उस वक़्त कोरोना का नाम भी दुनिया के सामने नहीं आया था। उस वक़्त कंपनी ने कहा था कि इन 13 हजार में से 6000 कर्मचारी कंटेट मॉडरेशन बिजनेस से होंगे जो कंपनी फेसबुक के लिए करती है। उन्होंने यह भी कहा था कि कंपनी प्रयास करेगी कि इनमें से 5000 एंप्लॉयी को री-स्किल कर दोबारा नौकरी पर रखा जाए।

PM Kisan : किसान योजना की स्कीम का फायदा उठाने का ये आसान तरीका

सस्ती कीमत में सोना खरीदने का ये है अचूक तरीका

MSME सेक्टर के बल पर भारतीय अर्थव्यवस्था में आ सकती है तेजी