कोरोना मुक्त हो चूका था भारत का यह राज्य, लेकिन वापस लौटी ताबाही और मच गया कोहराम

अगरतला: कोरोना वायरस महामारी से इस समय पूरा विश्व जूझ रहा है. भारत की स्थिति भी निरंतर संघर्ष की बनी हुई है. ऐसे में इस समय यदि कोई अच्छी खबर मिले तो यह केवल एक ही हो सकती है कि कोई शहर, जिला या राज्य ऐसा हो जहां कोरोना का एक भी केस ना हो. वह क्षेत्र कोरोना मुक्त हो. कुछ दिनों पहले त्रिपुरा से यह राहत भरी खबर आई थी कि वह कोरोना मुक्त हो चुका है, किन्तु यह खुशी ज्यादा दिनों तक नहीं टिक सकी. 

दरअसल, दोबारा कोरोना संक्रमण के केस मिलने पर त्रिपुरा के सीएम बिप्लव देव ने कहा कि हम शुरू से ही मामले पर नजर बनाए हुए हैं. बता दें कि कोरोना वायरस से लड़ते हुए त्रिपुरा 23 अप्रैल को कोरोना मुक्त राज्य घोषित कर दिया गया था. सीएम बिप्लव देव ने इसे एक बड़ी उपलब्धि करार दिया था. किन्तु यह उपलब्धि 4 मई तक ही टिक सकी, क्योंकि 5 मई को राज्य में BSF जवानों में कोरोना संक्रमण के दो केस सामने आ गए.

सीएम बिप्लव देव ने इस मामले में कहा कि कोरोना संक्रमण के नए मामले आते ही हमने त्वरित प्रक्रिया के तहत BSF के दोनों कैंप के सभी जवानों का नमूना लिया. इसके साथ ही आसपास रहने वाले नागरिकों के भी नमूने लिए गए हैं. इनमें से 151 केस पॉजिटिव पाए गए, हालांकि इनमें बेहद सामान्य लक्षण हैं. उन्होंने कहा कि बहुत जल्दी ही जवान अपने शिविरों में वापस जा सकेंगे. नागरिकों में से एक भी संक्रमित मामला नहीं आया है.

आनंद महिंद्रा का बड़ा ऐलान, 'टूर ऑफ़ ड्यूटी' कर चुके युवाओं को देंगे खास मौका

तमिलनाडु : गांव में भी शराब पीने के लिए बेताब दिखे लोग, उमड़ी भारी ​भीड़

रेल मंत्री पीयूष गोयल जमकर भड़के, इन्हें बताया मजदूरों की हालत का जिम्मेदार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -