तमिलनाडु : गांव में भी शराब पीने के लिए बेताब दिखे लोग, उमड़ी भारी ​भीड़

महामारी कोरोना के चलते लॉकडाउन का तीसरा चरण लागू किया गया है. ऐसे में ग्रीन जोन और ओरेंज जोन के हिसाब इस लॉकडाउन में ढील दी गई है. इस ढील के बाद कई राज्यों में शराब की दुकानें खोलने की भी इजाजत सरकार द्वारा दी गई है. शराब की दुकानें को खोलने के पहले ही दिन कई राज्यों में लंबी-लंबी लाइने देखने को मिली. इसके बाद कई राज्य में शराब बेचने पर कोरोना टैक्स भी लगाया गया बावजूद कई राज्यों में शराब की दुकानों पर अब भी भीड़ देखने को मिल रही है. अब तमिलनाडु में स्थित कांचीपुरम जिले के उथुकडु गांव में चलाई गई एक शराब की दुकान के बाहर लंबी कतारें देखी गई है. यह दुकान राज्यों में तमिलनाडु राज्य विपणन निगम (TASMAC) द्वारा खोली गई है. 

कोरोना से जंग में मदद के लिए आगे आया जगन्नाथ मंदिर, CMRF में दिए 1.51 करोड़

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि देश इस वक्त कोरोना संकट से जूझ रहा है. चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस से अभी तक सूमचे देश में 2 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है वहीं संक्रमितों का आंकड़ा 85 हजार के पार पहुंच गया है. अगर तमिलनाडु की बात करें तो यहां पर 9 हजार से ज्यादा संक्रमित मामले सामने आए वहीं मरने वालों काआंकड़ा 66 पहुंच गया है.

लॉकडाउन में साढे चार करोड़ से ज्यादा लोगों की भूख मिटा चुका है यह फाउंडेशन

अगर आपको नही पता तो बता दे कि इस वायरस का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है. ऐसे में प्रत्येक देश अपने स्तर पर इस वायरस से लड़ने के लिए अपनी रणनीति लागू कर रहे हैं. फिलहाल वर्तमान में इस वायरस से बचने के लिए सिवाय एहतियात बरतने के अलावा अन्य विकल्प मौजूद नहीं है. 200 से ज्यादा देशो में कोरोना संकट मंडरा रहा है. सभी देश अपन स्तर पर इस वायरस से लड़ रहे हैं. वही, अकेले अमेरिका में इस वायरस से 80 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. कई देशों ने इससे बचने के लिए लॉकडाउन भी लगाया हुआ है. इस वायरस के कारण बिगड़ती आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए लॉकडाउन में कुछ ढील भी दी गई है. 

इन राज्यों में प्रवासी मजदूरों की ट्रेन को नहीं मिली अनुमति

पीथमपुर की फैक्ट्रियां हुई शुरू, लेकिन काम है ठप

यहां पर स्वच्छता वारियर्स के धोए गए पैर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -