छत्तीसगढ़ सरकार ने शुरू की छंटनी, कर्मचारियों के सामने अब रोज़ी का संकट गहराया

Sep 20 2019 05:47 PM
छत्तीसगढ़ सरकार ने शुरू की छंटनी, कर्मचारियों के सामने अब रोज़ी का संकट गहराया

रायपुर: युवाओं को रोजगार और संविदा कर्मचारियों को नियमित करने का वादा करने वाली छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने वादे से उलट नौकरियों मे छटनी का दौर शुरु कर दिया है. छत्तीसगढ़ के युवाओं को रोज़गार का अवसर देने की बात कहकर सरकार ने अलग-अलग विभागों मे प्लेसमेंट कंपनियो के माध्यम से भर्ती हुये हजारों कर्मचारियों को निकालने की तैयारी आरंभ कर दी है.

इसी के कारण पर्यटन विभाग मे काम करने वाले लगभग तीन दर्जन से ज्यादा कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है. वर्षों से अलग-अलग विभागों में काम करने वाले इन कर्मचारियों के समक्ष अब रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है. कर्मचारियों का कहना है कि हमने वर्षों तक सरकार को अपनी सेवाएं ये सोचकर नहीं दी थीं कि हम प्राइवेट कंपनी के माध्यम से आए हैं.  इनमें से कई तो ऐसे हैं जो अपना एक दशक से अधिक समय सरकार के लिए दे चुके हैं.

वहीं अब ये लोग उम्र गुजरने के कारण कहीं और नौकरी के लिए एप्लाय भी नहीं कर पा रहे हैं. आर्थिक तंगी के हालात से गुजर रही छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने अपने खर्चे में कटौती करने के लिए ये कदम उठाया हैं, किन्तु सरकार इसका अलग ही तर्क दे रही है. सरकार के मंत्री रविंद्र चौबे का कहना है कि राज्य के युवाओं को मौका देने के लिए इस तरह का फैसला लिया गया है. आने वाले समय मे सरकार भर्तियां भी निकालने जा रही है. 

यूपी टूरिज्म पर सीएम योगी का मास्टर प्लान, कहा- पर्यटन को रोज़गार से जोड़ेंगे

अब आज़म खान के बड़े बेटे पर भी दर्ज हुआ केस, जमीन हड़पने का लगा आरोप

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान, कहा- भाजपा के साथ जल्द होगा सीट बंटवारे का ऐलान