चाँद पर तिरंगा: 13 जुलाई को लॉन्च होगा चंद्रयान-3 ! ISRO चीफ बोले- पुरानी परेशानियां सामने ना आएंगी

चाँद पर तिरंगा: 13 जुलाई को लॉन्च होगा चंद्रयान-3 ! ISRO चीफ बोले- पुरानी परेशानियां सामने ना आएंगी
Share:

नई दिल्ली: भारत का तीसरा मून मिशन चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) 13 जुलाई 2023 को लॉन्‍च किए जाने की जानकारी सामने आई है। चंद्रयान-3 की लॉन्चिंग विंडो 13 से 19 जुलाई है। इसकी लॉन्चिंग पर ISRO के अध्यक्ष एस सोमनाथ का कहना है कि हम चंद्रमा पर सॉफ्ट लैंडिंग करने में सक्षम होंगे। लॉन्च का दिन 13 जुलाई है, यह 19 जुलाई तक जा सकता है।

रिपोर्ट के अनुसार, 13 जुलाई 2023 की दोपहर 2:30 बजे मिशन को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से चाँद पर जाने के लिए रवाना किया जाएगा। लॉन्चिंग से संबंधित सवाल पर ISRO चीफ एस सोमनाथ ने कहा कि, अभी चंद्रयान-3 के लॉन्च की अंतिम तिथि तय नहीं है। एजेंसी 13 से 19 जुलाई के बीच कोई तारीख निर्धारित कर सकती है। हम जल्द से जल्द किसी संभावित तारीख पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अभी रॉकेट एकीकरण का कार्य जारी है, जो अगले दो से तीन में पूरा हो सकता है। उसके बाद परीक्षण कार्यक्रम चलेगा। जब सारे टेस्ट पूरे हो जाएंगे, तब लॉन्च की अंतिम तिथि का ऐलान कर दिया जाएगा।

इस मिशन को GSLV Mark 3 लॉन्च वीकल की सहायता से अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया जाएगा। पहले बताया जा रहा था कि चंद्रयान-3 मिशन चंद्रयान-2 का ही फॉलोअप है। हालांकि, ISRO चीफ एस सोमनाथ का कहना है कि यह चंद्रयान-2 की रेप्‍लिका नहीं है। यान की इंजीनियरिंग बिलकुल अलग है। इसे पहले के मुकाबले काफी मजबूत बनाया गया है, ताकि पुरानी परेशानियां सामने ना आएं। चंद्रयान -3 अंतरिक्ष यान को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र, श्रीहरिकोटा से LVM3 (लॉन्च व्हीकल मार्क-III) द्वारा अंतरिक्ष में भेजा जाएगा। यह चंद्रमा की सतह पर लैंड करेगा और परीक्षण करेगा।

अधिकारियों ने जानकारी दी है कि चंद्रयान-2 के बाद इस मिशन को चंद्रमा की सतह पर सुरक्षित लैंडिंग की क्षमता की जांच के लिए लॉन्च किया जा रहा है। बता दें कि, चंद्रयान-2 मिशन अंतिम चरण में फैल हो गया था। उसका लैंडर पृथ्वी की सतह से झटके के साथ टकरा गया था, जिसके बाद पृथ्वी के कंट्रोल रूम से उसका संपर्क टूट गया था। चंद्रयान-3 को उसी अधूरे मिशन को पूरा करने के लिए चाँद पर भेजा जा रहा है। इसमें लैंडर के चंद्रमा की सतह पर लैंड करने के बाद उसमें से रोवर निकलेगा और सतह पर चक्कर लगाएगा।

शुरू होते ही अमरनाथ यात्रा को दहलाने की साजिश नाकाम, 4 IED के साथ आतंकी यासिर गिरफ्तार

1500 किमी की रेंज, 9,500 किमी प्रतिघंटा की मारक रफ़्तार, DRDO ने की परमाणु मिसाइल सागरिका की सफल टेस्टिंग

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पर दर्दनाक सड़क हादसा, बालाजी का दर्शन करने जा रहे 4 दोस्तों की मौत

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -