माफिया अतीक अहमद के भाई सहित छह पर आरोप तय, दिनदहाड़े की थी 'विधायक' की हत्या

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) MLA राजू पाल मर्डर केस आरोपियों के खिलाफ आरोप तय कर दिए गए हैं। CBI कोर्ट की स्पेशल जज कविता मिश्रा ने आरोप तय करते हुए मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख 13 अक्टूबर मुक़र्रर की है। इस हत्याकांड में माफिया अतीक अहमद (Atique Ahmed) के भाई पूर्व MLA अशरफ समेत अन्य लोग शामिल हैं।

इन सभी आरोपियों के खिलाफ हत्या, हत्या की साजिश और हत्या की कोशिश करने के अपराधों में आरोप तय किया गया। हालांकि, अदालत के समक्ष आरोपियों ने आरोपों से इंकार करते हुए ट्रायल कराने की मांग की है। मामले की सुनवाई के लिए अदालत में आरोपी अशरफ और फरहान को जेल से लाकर हाजिर किया गया था। वहीं, जमानत पर चल रहे रंजीत पाल, आबिद, इसरार अहमद और जुनैद व्यक्तिगत रूप से अदालत में हाजिर हुए थे। 

क्या है मामला:-

बता दें कि उत्तर प्रदेश में वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव में फूलपुर से सपा के टिकट पर अतीक अहमद सांसद चुने गए थे। इसके बाद अतीक की इलाहाबाद पश्चिम विधानसभा सीट रिक्त हो गई थी। इस सीट पर हुए उपचुनाव में सपा ने अतीक के छोटे भाई अशरफ को मैदान में उतारा था। मगर, बसपा ने उसके सामने राजू पाल को उतार दिया। उस उपचुनाव में बसपा उम्मीदवार राजू पाल ने अतीक अहमद के भाई अशरफ को मात दे दी थी।

उपचुनाव में जीत हासिल कर पहली बार MLA बने राजू पाल की कुछ महीने बाद ही 25 जनवरी, 2005 को सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मर्डर केस में देवी पाल और संदीप यादव की भी जान गई थी। दो अन्य व्यक्ति गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। इस मर्डर केस में सीधे तौर पर सांसद अतीक अहमद और उनके भाई अशरफ का नाम सामने आया था।

'लोगों ने आत्मनिर्भर भारत का मज़ाक उड़ाया, लेकिन आज..', 5G लॉन्च पर बोले मोदी

'कौन है वो SP, जो कांग्रेस छोड़ने वाला था..', गहलोत की 'जादूगरी' पर भाजपा के सवाल

बंगाल के शिक्षा भर्ती घोटाले का मास्टरमाइंड कौन ? पार्थ चटर्जी मामले में CBI की चार्जशीट

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -