उन्नाव मामला: विधायक को बचाने वाले पुलिस अधिकारी गिरफ्तार

उन्नाव: उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित उन्नाव गैंगरेप में सीबीआई ने बड़ी कार्यवाही की है,  सीबीआई ने माखी थाने के पूर्व एसएचओ अशोक सिंह भदौरिया और एसआई कामता प्रसाद सिंह को गिरफ्तार कर लिया है. सीबीआई के अधिकारियों ने बताया है कि इन दोनों पुलिसकर्मियों को साबुत नष्ट करने, आपराधिक साजिश करने, पीड़िता के पिता को फर्जी मुकदमें में फंसाने, जैसे आरोपों केतहत गिरफ्तार किया गया है. अधिकारीयों ने बताया कि पुलिसकर्मियों ने उन्नाव गैंगरेप के मुख्य आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर को बचाने के लिए यह सब किया था.

दोनों पर कार्यवाही करते हुए उन्हें निलंबित कर दिया गया है, आज दोनों पुलिसकर्मियों को अदालत में पेश किया जाएगा. बुधवार को सीबीआई ने दोनों पुलिसकर्मियों को नवल किशोर रोड स्थित जोनल ऑफिस में उन्नाव मामले से सम्बंधित पूछताछ करने के लिए बुलाया था, जिसके बाद देर शाम उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है, फ़िलहाल सीबीआई दोनों आरोपियों से सवाल-जवाब कर रही है, जिसके बाद उन्हें अदालत ले जाया जाएगा.

बताया जा रहा है दोनों पुलिस कर्मियों  को धारा 120 बी, 193, 201, 2018 और आर्म्स एक्ट 3/25 के तहत गिरफ्तार किया गया है. सीबीआई ने यह भी खुलासा किया है कि एसएचओ ए एस भदौरिया और एसआई केपी सिंह की मौजूदगी में ही सेंगर के भाई और उसके अन्य लोगों ने पीड़िता के पिता को पेंड़ से बांधकर पीटा था, जिससे उनकी मौत हो गई थी. इन दो पुलिसकर्मियों के अलावा सीबीआई को एसपी पुष्पांजली, सीओ सफीपुर और अन्य पुलिस अधिकारियों पर भी शक है, उनके खिलाफ भी सीबीआई कार्यवाही कर सकती है 

उन्नाव गैंग रेप: फर्जी सीबीआई अफसर ने विधायक की पत्नी से की ये मांग

उन्नाव गैंगरेप में बीजेपी विधायक पर लगे आरोप सही -सीबीआई

उन्नाव रेप: विधायक को बचाने के लिए 1 करोड़ की डिमांड करने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -