मिसाल-ए-दोस्ती : तैरना नहीं आता था फिर भी नदी में कूदकर बचाई दोस्त की जान

Mar 17 2019 12:49 PM
मिसाल-ए-दोस्ती : तैरना नहीं आता था फिर भी नदी में कूदकर बचाई दोस्त की जान

सिरसा : एक युवक को तैरना नहीं आता था फिर भी नदी में कूदकर उसने दोस्त की जान बचाई। गुरमीत ने साहिल को तो बाहर निकाल दिया, लेकिन वह खुद डूब गया। घटना हरियाणा के सिरसा की है। घग्गर नदी के ऊपर से गुजरने वाली पंजुआना से सिरसा पानी सप्लाई पाइप लाइन से पैर फिसलने के कारण नौंवी कक्षा का छात्र साहिल नदी में गिर गया। तैरना नहीं आने के बावजूद भी उसे बचाने के लिए उसका दोस्त गुरमीत भी नदी भी कूद गया।

ब्रिक्स के शिखर सम्मेलन में होगी, आतंकवाद के खिलाफ चर्चा

गांव में छाया मातम 

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गुरमीत ने उसे तो बाहर निकाल दिया, लेकिन उसके खुद के साथ अनहोनी घट गई। घटना के बाद गांव खैरेका में मातम छा गया। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से एक घंटे बाद गुरमीत के शव को नदी से निकाला। पुलिस ने मृतक के परिजनों के बयान पर कार्रवाई की है। जानकारी के मुताबिक, दोनों बचपन के दोस्त थे और एक ही कक्षा में एक ही स्कूल में पढ़ते थे।

प्रेम-प्रसंग में असफल होने पर युवक ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या

बचपन से साथ थे दोस्त 

जानकारी के अनुसार, 16 वर्षीय गुरमीत व 14 वर्षीय साहिल बचपन से ही दोस्त थे और दोनों ही गांव के सरकारी स्कूल में 9वीं कक्षा में पढ़ते थे। दोनों हमेशा एक साथ रहते थे। रोजाना की तरह शनिवार को भी दोनों एक साथ पेपर देने के लिए स्कूल गए और घर भी एक साथ लौटे थे। गुरमीत के पिता पूर्ण चंद ने बताया कि खाना खाने के बाद गुरमीत व साहिल उर्फ शालू करीब दो बजे एक साथ घग्गर नदी पर खेलने के लिए निकल पड़े।

शाओमी के 49 इंच की टीवी की कीमत में एक बार फिर कटौती, मिलेगी ये सुविधाएं

Flipkart Holi Gadgets Sale : 40 फीसदी तक मिल रहा डिस्कंट, कई प्रोडक्ट है शामिल

नक्सलियों ने लगाए लोकसभा चुनाव बहिष्कार का आह्वान करने वाले पर्चे