बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ने 8 करोड़ पंजीकृत उपयोगकर्ताओं का आंकड़ा किया पार

प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) ने मंगलवार को यूनिक क्लाइंट कोड (यूसीसी) के आधार पर 8 करोड़ पंजीकृत उपयोगकर्ताओं के लैंडमार्क को पार कर लिया। 7 करोड़ से 8 करोड़ यूजर्स तक के सफर में 15 महीने से थोड़ा ही ज्यादा समय लगा। बीएसई के सीईओ आशीष चौहान ने एक ट्वीट में कहा "बीएसई आज 8 करोड़ (80 मिलियन) यूनिक क्लाइंट कोड (यूसीसी) - निवेशकों के खाते में पहुंच गया। कमाल है।" माना जाता है कि 20-40 की आयु प्रोफ़ाइल वाले तकनीक-प्रेमी युवा उपयोगकर्ताओं द्वारा विकास को बढ़ावा दिया गया है।

बीएसई द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार राज्यों में सबसे तेज वृद्धि दर 7 करोड़ से 8 करोड़ पंजीकृत निवेशक खातों में उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात में दर्ज की गई है। अकेले महाराष्ट्र ने टैली को आगे बढ़ाने के लिए 50 लाख निवेशकों का योगदान दिया। उत्तर प्रदेश और गुजरात से क्रमश: 24 लाख और 21 निवेशकों ने सीधे बाजार में निवेश करना शुरू किया। इन राज्यों के अलावा इस रैली में अहम योगदान देने वाले अन्य राज्यों में कर्नाटक, मध्य प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल शामिल हैं।

इससे पहले पिछले साल जून में बीएसई ने 7 करोड़ पंजीकृत उपयोगकर्ता पंजीकृत किए थे। 6 करोड़ से 7 करोड़ उपयोगकर्ताओं की यात्रा में केवल 139 दिन लगे, जबकि पिछले मील के पत्थर क्रमशः 6 करोड़, 5 करोड़ और 4 करोड़ के लिए आवश्यक 241, 652 और 939 दिनों की तुलना में। बीएसई लिमिटेड मुंबई में दलाल स्ट्रीट पर स्थित एक स्टॉक एक्सचेंज है। यह 1875 में स्थापित किया गया था और यह दक्षिण एशिया का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है, और दुनिया में दसवां सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है।

आखिर भारत की 'कोरोना वैक्सीन' को मान्यता क्यों नहीं दे रहा ब्रिटेन ?

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स 2021: भारत की रैंकिंग में जबरदस्त सुधार, मोदी 'राज' में हुई शानदार तरक्की

पुलिस से परेशान हुए परिवार ने की आत्महत्या करने की कोशिश, जानिए पूरा मामला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -