भाजपा का आरोप, अवैध शराब का धंधा फलने-फूलने दे रही उप्र सरकार

Aug 25 2015 06:50 AM
भाजपा का आरोप, अवैध शराब का धंधा फलने-फूलने दे रही उप्र सरकार

लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की उत्तर प्रदेश इकाई ने राज्य की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) सरकार पर अवैध शराब के धंधे को फलने-फूलने का मौका देने का आरोप लगाया. भाजपा ने यह भी कहा है कि राज्य में तेजी से फल-फूल रहा अवैध शराब का कारोबार मौत का सबब बनता जा रहा है और सरकार मौन साधे बैठी हुई है. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने सूत्रों से बातचीत के दौरान कहा कि हर घटना के बाद कठोर कार्रवाई के नाम पर निलंबन और मुआवजे की घोषणा कर दी जाती है.

पाठक ने आरोप लगाया कि अवैध शराब के कारोबार को अंजाम दे रहे लोगों की सत्ताशीर्ष से नजदीकियों के कारण मुख्यमंत्री की अवैध कारोबार में लिप्त लोगों के खिलाफ निर्णायक पहल नहीं कर रहे. उन्नाव में जहरीली शराब से हुई मौतों पर दुख व्यक्त करते हुए पाठक ने कहा कि अकेले उन्नाव में जहरीली शराब से होने वाली मौतों की यह तीसरी घटना है. अब-तक 16 लोगों की जान जा चुकी हैं, हर घटना के बाद कठोर कार्रवाई के दावे शासन सत्ता द्वारा किए जाते हैं, लेकिन उसका नतीजा नहीं दिखाई देता है.

पाठक ने कहा कि आगरा, कौशाम्बी, भदोही, लखीमपुर खीरी, गोरखपुर, मुरादाबाद सहित दर्जनों जिलों में अवैध शराब के कारोबारी मौत का ये खेल आज भी बदस्तूर खेल रहे हैं. उन्होंने कहा कि सराकर को जहरीली शराब मामले में दोषियों को दंडित किए जाने की फौरी घोषणाओं की बजाय इस कारोबार को कुटीर उद्योग के रूप में पनपा रहे लोगों पर शिकंजा कसना चाहए, ताकि इस तरह की घटनाओं से बचा जा सके. उल्लेखनीय है कि रविवार को उन्नाव में जहरीली शराब पीने की वजह से पांच लोगों की मौत हो गयी थी. इस मामले में मुख्यमंत्री ने कुल 9 अधिकारियों को निलंबित किया है.