क्या सपा नहीं करती राष्ट्रधर्म का पालन ? मुलायम की बहु अपर्णा यादव के भाजपा में आने से उठे सवाल

लखनऊ: अपर्णा यादव ने आज बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दामन थाम लिया है. अपर्णा समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक और पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू हैं, उनका भाजपा में जाना समाजवादी पार्टी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. भाजपा ज्वाइन करने के बाद अपर्णा यादव ने पीएम नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की. 

अपर्णा ने यह भी कहा कि राष्ट्रधर्म उनके लिए सर्वोपरि है. भाजपा में शामिल होने के बाद अपर्णा यादव ने कहा कि, 'सब जानते हैं कि मैं हमेशा से पीएम मोदी से प्रभावित रहीं हूं और मेरे चिंतन में राष्ट्र सबसे ऊपर है. राष्ट्र का धर्म मेरे लिए सर्वाधिक आवश्यक है. मैं अब राष्ट्र की आराधना करने के लिए निकली हूं, जिसमें मुझे सबका सहयोग चाहिए.' अपर्णा ने आगे कि वह पीएम मोदी की कार्यशैली से हमेशा से प्रभावित रही हैं. उन्होंने यहां स्वच्छ भारत अभियान, महिलाओं, रोजगार के लिए चलाई गई कई योजनाओं का नाम लिया. 

वहीं, अपर्णा के भाजपा में आने पर स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि यूपी में विधानसभा चुनाव होने वाला है और समाजवादी पार्टी के शासन में गुंडागर्दी को इतना महत्व दिया जाता है कि पश्चिम यूपी में कोई बेटी सुरक्षित नहीं थी. अपर्णा को हमेशा से लगता था कि योगी राज एक अच्छा सुशासन है. बता दें कि यहां राष्ट्रधर्म को लेकर दिए गए बयान ने एक सवाल खड़ा कर दिया है कि क्या सपा राष्ट्रधर्म का पालन नहीं करती, जो अपर्णा को अपनी पारिवारिक पार्टी छोड़कर भाजपा में आना पड़ा. 

एंट्रिक्स-देवास डील पर सुप्रीम कोर्ट ने दिया फैसला, कांग्रेस पर क्यों लगे फर्जीवाड़े के आरोप ?

कब्रिस्तान और मदरसों की बॉउंड्री बनवाएगी राजस्थान सरकार, CM गहलोत ने किए कई बड़े ऐलान

'लड़की हैं तो क्या, टिकट दे दें ..', लड़की हूँ लड़ सकती हूँ अभियान पर बोलीं कांग्रेस नेता शहला अहरारी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -