लोकसभा चुनाव: जानिए उस एकमात्र सीट के बारे में, जहाँ तीन चरणों में होगा मतदान

श्रीनगर: 2019 लोकसभा चुनाव के लिए तारीखों की घोषणा कर दी गई है. 7 चरणों में चुनावों का आगाज़ 11 अप्रैल से होगा. 19 मई को सातवें और अंतिम चरण के लिए वोट डाले जाएंगे. 23 मई को चुनावों के परिणाम आएंगे. इन चुनावों की तारीख के ऐलान के साथ लोगों की नज़रें जम्‍मू-कश्‍मीर के विधानसभा चुनावों पर भी लगी हुई थीं. घाटी के ताजा हालात को देखते हुए वहां किस तरह चुनाव होंगे, इस पर सबकी निगाहें टिकी हुई थीं.

लोकसभा चुनाव: पांच सीटों वाले उत्तराखंड में इस तारीख को होगा मतदान

किन्तु रविवार को प्रेस वार्ता में चुनाव आयोग ने स्पष्ट कर दिया है कि प्रदेश के विधानसभा चुनाव लोकसभा के साथ नहीं होंगे. जम्‍मू कश्‍मीर में लोकसभा के लिए 5 चरणों में मतदान होगा. जम्‍मू-कश्‍मीर की कुल 6 लोकसभा सीटों के लिए 5 चरणों में मतदान होगा. यहां पर 11 अप्रैल, 18 अप्रैल, 23 अप्रैल, 29 अप्रैल और 6 मई को मतदान किया जाएगा. किन्तु जम्‍मू कश्‍मीर की अनंतनाग सीट एक मात्र ऐसी सीट होगी, जहां पर तीन चरणों में मतदान होगा. जम्‍मू कश्‍मीर के हालात के मद्देनज़र यहां की सभी सीटों पर शांतिपूर्ण तरीके से मतदान कराना एक बड़ी चुनौती है.

भाजपा नहीं चाहती अल्पसंख्यक करें मतदान, लेकिन हम रोज़ा रखकर भी डालेंगे वोट - टीएमसी नेता

अनंतनाग सीट पर 2014 में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की महबूबा मुफ्ती ने चुनाव जीता था. किन्तु उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद ये सीट खाली हो गई थी. यहां पर पहले भी चुनाव कराने के बारे में विचार किया गया था, किन्तु सुरक्षा के कारणों से ये लगातार टलता चला गया. 2014 में जम्‍मू कश्‍मीर की कुल 6 लोकसभा सीटों में से 3 भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने और 3 पीडीपी ने जीती थीं. 

खबरें और भी:-

 

पीएम मोदी ने दी सभी सियासी दलों को आम चुनाव की शुभकामनाएं

मतदान को पूरी तरह से स्वतंत्र, निष्पक्ष व शांतिपूर्ण बनाया जाना जरूरी : मायावती

लोकसभा के साथ नहीं होंगे जम्मू कश्मीर के विधानसभा चुनाव, उमर अब्‍दुल्‍ला ने उठाए सवाल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -