अमिताभ बच्चन ने फैंस को दिया स्टडी का हवाला, कही यह बात

अमिताभ बच्चन ने फैंस को दिया स्टडी का हवाला, कही यह बात

हाल ही में हुए लैंसेट रिसर्च में कहा गया है कि घातक Sars-CoV-2 virus रेस्पिरेटरी सैंपल्स की तुलना में मानव मल में लंबे समय तक रह सकता है, जिसके कारण ही कोरोना वायरस फैलता है. जी हाँ, बीते 16 मार्च को जारी की गई एक रिपोर्ट के अनुसार, SARS-CoV-2 मल में पाया जा सकता है और यह काफी लंबे समय तक इसमें जिंदा रह सकता है, जबकि रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट में इसे डिटेक्ट नहीं किया जा सकता.

इसी के साथ खबर मिली है कि इस स्टडी रिपोर्ट को कोट करते हुए बीते बुधवार को बॉलीवुड एक्टर अमिताभ बच्चन ने बुधवार को अपने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया और बताया कि कैसे घरों में आने वाली मक्खियों से कोरोना वायरस फैल सकता है. उन्होंने अपने शेयर किए गए वीडियो के कैप्शन में लिखा है, "अपने टॉयलेट का इस्तेमाल करो. हर कोई, हर रोज, हमेशा. दरवाजा बंद तो बीमारा बंद."

इसी के साथ अमिताभ बच्चन ने कहा, "आज मैं आप सभी से एक बहुत जरूरी बात करना चाहता हूं. देखिए हमारा देश कोरोना वायरस से जूझ रहा है और आप सभी को इस लड़ाई में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है. क्या आप जानते हैं कि हाल ही में चीन के विशेषज्ञों ने ये पाया है कि कोरोना वायरस मानव मल में कई हफ्तों तक जिंदा रह सकता है." आप सभी को बता दें कि आगे बात करते हुए बिग बी ने यह भी कहा, "कोरोना वायरस का मरीज अगर पूरी तरह से ठीक भी हो जाए तब भी कुछ हफ्तों तक कोरोना वायरस उसके मल में जिंदा रह सकता है. अगर ऐसे किसी व्यक्ति के मल पर कोई मक्खी बैठ जाए और फिर वो मक्खी फल, सब्जियां या खाने पर बैठ जाएं तो यह बीमारी और फैल सकती है, इसलिए यह बहुत ही आवश्यक है और महत्वपूर्ण भी कि हम सभी कोरोना वायरस से लड़ने के लिए उसी तरह एक जन आंदोलन बनाएं जैसे हमने प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में स्वच्छ भारत मिशन को जन आंदोलन बनाकर भारत को खुले में शौच से मुक्त बनाया था." इस तरह उन्होंने सभी को सलाह दी है कि अपने आपको अपने परिवार को करना से बचाए.

तो क्या प्रिंस चार्ल्स के कारण कनिका को हुआ कोरोना वायरस?

कार्तिक आर्यन ने गाया कोरोना रैप, सुनकर आ जाएगा आपको मजा

तीन बार कोरोना पॉजिटिव होने पर कनिका ने डिलीट की यह पोस्ट