अमित शाह ने दिखाई PM मोदी की डिग्रियां, कहा- माफी मांगें केजरीवाल

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शैक्षणिक योग्यता को लेकर किए जा रहे सवालों पर भारतीय जनता पार्टी ने अपना जवाब दिया। इस दौरान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि यह बहुत दुर्भाग्य पूर्ण है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शैक्षणिक योग्यता पर सवाल उठाए गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिग्रियों को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जो आरोप लगाए हैं वास्तविकता उससे कोसों दूर हैं।

उन्होंने मीडिया के बीच ये दोनों ही डिग्रियां प्रदर्शित कीं और पत्रकारों में इनकी छायाप्रतियों का वितरण किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक किया। एमए राजनीति शास्त्र में गुजरात विश्वविद्यालय से किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सार्वजनिक जीवन का स्तर गिराया है। उन्होंने मांग की कि केजरीवाल को इस बात के लिए माफी मांगना चाहिए।

उनके पास डिग्रियों को लेकर कोई सबूत नहीं है। भारत के प्रधानमंत्री को लिखित सूचना के आधार पर गलत बताया गया। जनता के मन में भ्रांति फैलाई गई। उन्होंने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल करने से पहले संसद में गहराने वाली दूसरी बातों की स्पष्टता करनी होगी।

इस मामले में केंद्रीय वित्तमंत्री अरूण जेटली ने कहा कि 1970 और 80 के दशक में वे प्रमुख कार्यकर्ता थे उस समय में जो भी कार्यकर्ता कार्य करते थे उन सभी के लिए अभाविप का कार्यालय सभी की गतिविधियों का केंद्र था। उन्होंने कहा कि आपातकाल के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी परीक्षा देने के लिए गुजरात से आए थे तो 

अभाविप कार्यालय ठहरे थे। 1978 में उन्होंने ग्रेजुएशन पूर्ण किया और फिर गुजरात विश्वविद्यालय से एमए किया। उल्लेखनीय है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी की शैक्षणिक योग्यता को लेकर केंद्रीय सूचना आयोग को पत्र लिखकर जानकारी मांगी थी कि पीएम मोदी ने जो डिग्रियां की थीं उनका रिकाॅर्ड है या नहीं और क्या ये डिग्रियां असली हैं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -