दिखा पठानकोट हमले का असर, US नहीं बेचेगा पाकिस्तान को F-16 विमान

Jan 12 2016 05:08 PM
दिखा पठानकोट हमले का असर, US नहीं बेचेगा पाकिस्तान को F-16 विमान

वाॅशिंगटन : अमेरिकी कांग्रेस द्वारा पाकिस्तान से किया गया सैन्य करार कुछ परिवर्तित कर दिया गया। दरअसल पाकिस्तान को अब अमेरिका अपने 8 एफ - 16 जेट्स नहीं बेचेगा। पाकिस्तान के समाचारपत्र डाॅन के हवाले से यह जानकारी सामने आई है। जिसमें यह कहा गया है कि पाकिस्तान को अमेरिका एफ-16 फ्लाईट देने को लेकर चिंता व्यक्त कर रही थी। अमेरिकी सांसदों ने इस मसले पर नोटिस के माध्यम से सफाई दी। इस मामले में जानकारी देने की मांग भी की गई थी। पाकिस्तान को एयरक्राफ्ट देने में उन्होंने जल्दीबाजी नहीं दिखाने को कहा था। 

अमेरिकी सांसद पठानकोट में आतंकी हमले को लेकर बराक ओबामा प्रशासन पर हमला कर दिया गया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को पठानकोट में हमला करने वालों पर कार्रवाई करना चाहिए। भारतीय खुफिया एजेंसियों के अनुसार पठानकोट में हमले की रणनीति पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन द्वारा बनाई गई थी। भारत ने इस बारे में कहा है कि पाकिस्तान द्वारा मुंबई में आतंकी हमले को लेकर किसी प्रकार की ठोस कार्रवाई नहीं हुई थी।

भारतीय प्रवक्ता द्वारा कहा गया कि पाकिस्तान ने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि वे इस मसले पर जांच करवाने जा रहे हैं। सार्वजनिक तौर से उन्होंने यह भी कहा कि आतंकी समूह के मध्य किसी किस्म का अंतर नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि पाकिस्तान इस तरह के मसलों पर ठोस कार्रवाई करे।

अमेरिकी सरकार के अधिकारियों ने कहा कि वे पाकिस्तान से इस तरह के मामले में संपर्क में है। पठानकोट में हमला होने और अफगानिस्तान के मजार-ए-शरीफ में भारतीय वाणिज्य दूतावास पर हमला किए जाने को लेकर पाकिस्तान के साथ वे संपर्क में हैं। अमेरिका के अधिकारी द्वारा कहा गया कि पाकिस्तान इस तरह के मामलों में कोई न कोई एक्शन ले पाकिस्तान और भारत में अच्छे रिश्तों हेतु यह बहुत जरूरी है।

अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार अमेरिकी सरकार को रिपब्लिकन नियंत्रण वाले कांग्रेस से पाकिस्तान हेतु एफ - 16 का अप्रूवल करवाना बेहद कठिन है। रिपब्लिकन और डेमोक्रेट्स के 20 से अधिक सांसदों ने भारत का समर्थन भी किया है।